Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > दिल्ली-एनसीआर की 72 क्लब पार्टियां पुलिस के रडार पर, ड्रग्स सप्लाई पर नज़र

दिल्ली-एनसीआर की 72 क्लब पार्टियां पुलिस के रडार पर, ड्रग्स सप्लाई पर नज़र

मुंबई क्रूज शिप मामले के बाद फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने एनसीआर के सभी क्लब, पब व बार की सूची तैयार की है। जहां अक्सर महँगी पार्टियां आयोजित की जाती हैं।

दिल्ली-एनसीआर की 72 क्लब पार्टियां पुलिस के रडार पर, ड्रग्स सप्लाई पर नज़र
X

नई दिल्ली। मुंबई की हाई-प्रोफाइल ड्रग्स पार्टी में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के पकड़े जाने के बाद आलीशान जगहों पर होने वाली ऐसी महँगी पार्टियां पुलिस के रडार पर हैं। क्राइम ब्रांच ने दिल्ली-एनसीआर में इस महीने आयोजित होने वाली 72 पार्टियों की लिस्ट तैयार की है जहां ड्रग्स सप्लाई की सम्भावना सबसे ज़्यादा है। फरीदाबाद, दिल्ली, नोएडा और गुरुग्राम के कई क्लब पर पुलिस की नजर है, खासकर जिन्होंने अपना रजिस्ट्रेशन भी नहीं कराया है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुंबई क्रूज शिप मामले के बाद फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने शहर व एनसीआर के इलाकों के सभी क्लब, पब व बार की सूची तैयार की है। जहां अक्सर ऐसी पार्टियां आयोजित की जाती हैं। बताया जा रहा है कि मुम्बई रेव पार्टी में पकड़ी गई तीन लड़कियों को पहले 30 जुलाई को फरीदाबाद में एक होटल में चल रही पार्टी से पकड़ा गया था, जहाँ बाद में कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी। बारह लड़कियों के साथ पकड़ी गई यह लड़कियां खुद को पेशे से मॉडल बताती हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस महीने फरीदाबाद में 13 रजिस्टर्ड पार्टियां आयोजित हो रही हैं। साथ ही 5 पार्टियां ऐसी भी हैं जो पंजीकृत नहीं हैं। ऐसे में इस तरह की जगहों में ड्रग्स सप्लाई की संभावना सबसे ज़्यादा है। पुलिस की स्पेशल टीमें फरीदाबाद के अलावा नोएडा, गुरुग्राम, दिल्ली समेत कई अन्य शहरों के विभिन्न ड्रग पैडलर्स पर नजर बनाए हुए है। इसके अलावा अलग अलग पब, क्लब और महँगे होटलों में होने वाली पार्टियों को मॉनिटर किया जा रहा है।

हाल के दिनों में दिल्ली-एनसीआर के फरीदाबाद, गुड़गांव, नोएडा और गाजियाबाद में होने वाली रेव पार्टियों में ड्रग्स की मांग तेजी से बढ़ी है। पहले ऐसी पार्टियों में कोकीन और हेरोइन का इस्तेमाल होता था। वहीं अब एलएसडी, मेफोड्रोन, एफेड्रिन, केटामाइन, मेथमफेटामाइन और एमडीएमए जैसी प्रतिबंधित ड्रग्स युवाओं की पहली पसंद बन गए हैं। नशे का खुमार इस कदर बढ़ा है कि लोग कोक, फ्लेक, चार्ली और स्नो नाम से जानी जाने वाली कोकीन जैसी महंगी ड्रग्स का सेवन भी खूब कर रहे हैं। इसके बाद लीसर्जिक एसिड डीथाईलामाइड (एलएसडी) की मांग सबसे ज्यादा है।

Updated : 2021-10-05T20:36:58+05:30
Tags:    

Web Desk

Web Desk, Noida, Uttar Pradesh


Next Story
Share it
Top