Top
Home > राज्य > हरियाणा में 2575 गोवंश की खाल मिलने से क्षेत्र में सनसनी

हरियाणा में 2575 गोवंश की खाल मिलने से क्षेत्र में सनसनी

हरियाणा में 2575 गोवंश की खाल मिलने से क्षेत्र में सनसनी
X

नई दिल्ली। हरियाणा के जमालग गांव से लोगों के घरों और गोदामों से 2575 गोवंश की खाल बरामद होने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। पुलिस व प्रशासन सकते में है कि आखिर कैसे इतने स्तर पर तस्करी को अंजाम दिया गयाघ् बताया जा रहा है कि पुलिस ने गांव से एक टाटा 407 वाहन भी बरामद किया है। आशंका है कि इसी वाहन से गायों को भरकर ले जाया जाता था। तस्करों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

दरअसलए हरियाणा का जिला मेवात पहले से ही कनवर्जन और गौ.तस्करी के लिए कुख्यात है। यहां हिन्दू परिवारों के साथ जघन्य अपराध किए जा रहे हैं। उन्हें मारने.पीटने से लेकर धर्मपरिवर्तन जैसी घटनाएं घटित होती रहती हैं। वर्ग विशेष की आबादी होने के कारण हिन्दुओं के परिवारों को उजा?ा जा रहा है। उनकी संपत्ति पर जबरन कब्जा कर लिया गया है। वर्ग विशेष के लोग ही गौ.तस्करी को अंजाम देते हैं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पुलिस को मुखबिरों से सूचना मिली थी कि कुछ लोग जमालग? व आसपास के गांवों में गाय की तस्करी को अंजाम दे रहे हैं। इसके लिए डीएसपी विवेक चैधरी के नेतृत्व में 10 जून को पुलिस की एक टीम ने छापा मारा। तलाशी के दौरान पुलिस को गाँव से ब?ी संख्या में गाय की खाल और एक वाहन मिला। छापेमारी के दौरान जब पुलिस आसिफ नाम के एक व्यक्ति के घर पहुँची तो वहां 9 लोग टाटा 407 वाहन पर गाय की खाल भर रहे थे। पुलिस को देखते ही सभी आरापी भाग निकले। जिनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने वाहन से तकरीबन 414 गायों की खाल बरामद की। इसके बाद उन्होंने असर के घर में बने एक गोदाम पर छापा मारा जहाँ से 620 गायों की खालें मिलीं। निजामूए फारुखए हसीम के घरों में बने गोदामों पर छापे से कुल 1060 गायों की खालें बरामद हुई।

गौरतलब है कि हरियाणा पशु तस्करों के लिए फलते.फूलते मैदान के रूप में उभरा है। जुलाई 2019 में गौ.तस्करों का विरोध करने पर गोपाल नाम के एक युवक की हत्या कर दी गई थी। इसी तरहए हरियाणा और उत्तर प्रदेश में पशु तस्करों द्वारा हिंसक हमलों के कई मामले सामने आए हैं। ऐसे भी कई मामले सामने आए हैंए जब पशु तस्करों ने पुलिस पर गोली चलाई। हरियाणा के मेवात को पशु तस्करी और अवैध वध का केंद्र माना जाता है।

Updated : 2020-06-17T06:30:56+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top