Top
Home > खेल > अन्य खेल > 46 प्रान्तों की यात्रा कर टोक्यो पहुंची ओलंपिक मशाल

46 प्रान्तों की यात्रा कर टोक्यो पहुंची ओलंपिक मशाल

46 प्रान्तों की यात्रा कर टोक्यो पहुंची ओलंपिक मशाल
X

टोक्यो। एक साल की देरी के बाद, 106 दिनों में 46 प्रान्तों की यात्रा करते हुए, ओलंपिक खेलों से पहले शुक्रवार को ओलंपिक मशाल आखिरकार टोक्यो पहुंच गई।"होप लाइट्स अवर वे" बैनर तले यात्रा करते हुए, कोमाज़ावा ओलंपिक पार्क स्टेडियम में एक समारोह में मशाल का स्वागत किया गया, जो ओलंपिक खेलों टोक्यो 1964 के लिए बनाया गया था। समारोह के साथ ही ओलंपिक मशाल रिले का टोक्यो चरण शुरू हो गया।

ओलंपिक डॉट कॉम के अनुसार, टोक्यो के गवर्नर कोइके युरिको ने कहा, "मैं उन सभी लोगों के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करना चाहता हूं जिन्होंने मशाल रिले को सफल बनाने में मदद की है।हम पूरे जापान में लोगों की मदद से और बहुत ही सरलता से इन कठिन परिस्थितियों को दूर करने में सक्षम हैं।"

विशेष क्षण -

मशाल को तीन बार के पैरालंपिक निशानेबाज तागुची अकी ने पोडियम तक पहुंचाया। तागुची के लिए यह एक विशेष क्षण था, क्योंकि 106 दिनों के बाद उन्होंने उत्सव के दीप को प्रज्ज्वलित किया। इस साल 25 मार्च को फुकुशिमा में टोक्यो 2020 ओलंपिक मशाल रिले को फिर से शुरू किया गया था।तागुची ने कहा, "मैं महसूस कर सकती थी कि मशाल उठाने वालों ने [लौ के साथ चलने में] बहुत सोचा है, कुछ कृतज्ञता के साथ भागे जबकि अन्य के भाग लेने के लिए अलग-अलग व्यक्तिगत कारण थे।"

ओलंपिक मशाल आशा का प्रतीक -

तागुची के साथ टोक्यो की एक पूर्व जापानी पेशेवर टेनिस खिलाड़ी शुज़ो मात्सुओका भी थे, जो साल भर की देरी के बावजूद ओलंपिक मशाल को आशा के प्रतीक के रूप में देख रहे थे।उन्होंने कहा," खेलों के स्थगित होने के बाद हमने अपने दिलों में रुकावट महसूस की, लेकिन मशाल ने हार नहीं मानी। तमाम कठिनाइयों के बावजूद, मशाल जापानी लोगों और दुनिया भर के लोगों के विचारों को एक जगह से दूसरी जगह ले जा रही है, अब यह यहां आ गया है। मैं लोगों के विचारों को धन्यवाद कहना चाहता हूं।"

23 जुलाई से आगाज -

गौरतलब है कि रिले की शुरूआत से अब तक कई बार इसका रास्ता बदला गया, नया रास्ता बनाया गया और सार्वजनिक पार्कों में जनता से दूर इसका आयोजन किया गया। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि स्टेडियम में उद्घाटन समारोह के लिये मशाल कैसे आयेगी। टोक्यो में स्टेडियमों में दर्शकों का प्रवेश निषेध कर दिया गया है । विदेशी प्रशंसकों के आगमन पर पहले ही रोक लगी हुई है ।ओलंपिक का आयोजन 23 जुलाई से आठ अगस्त तक होगा जबकि टोक्यो में आपातकाल 12 जुलाई से 22 अगस्त के बीच लागू रहेगा ।

Updated : 9 July 2021 12:50 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top