Top
Home > खेल > अन्य खेल > मैरीकॉम ने हासिल किया ओलंपिक कोटा

मैरीकॉम ने हासिल किया ओलंपिक कोटा

मैरीकॉम ने हासिल किया ओलंपिक कोटा
X

अम्मान (जोर्डन)। छह बार की विश्व चैम्पियन एमसी मैरीकॉम (51 किग्रा) ने सोमवार को यहां फिलीपींस की आयरिश मैग्नो पर आसान जीत से एशियाई क्वालीफायर के सेमीफाइनल में पहुंचकर टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाई किया। दूसरी वरीय मेरीकोम ने क्वालीफायर मुकाबला 5-0 से अपने नाम किया। मैरीकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक हासिल किया था, जब महिला मुक्केबाजी को पहली बार इस महासमर में शामिल किया गया था। अब 37 साल की इस अनुभवी मुक्केबाज का सामना सेमीफाइनल में चीन की युआन चांग से होगा जो पूर्व युवा ओलंपिक चैंपियन हैं।

मैरीकॉम से पहले विश्व चैंपियनशिप के रजत विजेता अमित पंघाल (52 किग्रा), राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता विकास कृष्णन (69 किग्रा), एशियाई चैंपियनशिप की स्वर्ण विजेता पूजा रानी (75 किग्रा), लवलीना बोगोर्हेन (69 किग्रा), आशीष कुमार (75 किग्रा) और सतीश कुमार (91 किग्रा प्लस) ने एशिया/ओसनिया ओलंपिक क्वॉलिफायर मुक्केबाजी टूर्नामेंट में अपने-अपने क्वार्टरफाइनल मुकाबले जीत कर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। साथ ही इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक का कोटा भी हासिल किया।

विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता मनीष कौशिक को 63 किग्रा में हार का सामना करना पड़ा। इस तरह भारत के सात मुक्केबाजों ने सेमीफाइनल में पहुंच कर ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया। सोमवार को अमित पंघाल ने 52 किग्रा वर्ग में फिलीपींस के करलो पालम को 4-1 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई जहां उनका मुकाबला चीन के हू जियानगुआन से होगा।

इससे पहले रविवार को विकास ने 69 किग्रा वर्ग में तीसरी सीड जापान के सेवोनरेट्स ओकाजावा को 5-0 से पराजित कर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी और ओलंपिक कोटा भी हासिल किया। विकास इस जीत के साथ तीन बार ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाई करने वाले विजेंदर सिंह के बाद दूसरे भारतीय मुक्केबाज बन गए।

कोरोना वायरस: इंडियन वेल्स टूर्नामेंट स्थगित, सुमित नागल ने जताई नाराजगी

पूजा रानी ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए थाईलैंड की पोमनीपा चूटी को 5-0 से पराजित कर ओलंपिक का टिकट हासिल कर लिया था। पूजा टोक्यो के लिए क्वॉलीफाई करने वाली पहली भारतीय मुक्केबाज बनीं। वह पहली बार ओलंपिक खेलने उतरेंगी। पूजा का सेमीफाइनल में मौजूदा विश्व और एशियायी चैंपियन चीन की ली कियान से मुकाबला होगा।

लवलीना ने उज्बेकिस्तान की मख्तूनखोन मेलीवा को 5-0 से हराकर ओलंपिक कोटा हासिल किया। लवलीना भी पहली बार ओलंपिक खेलेंगी। आशीष ने 75 किग्रा में इंडोनेशिया की मैखल मुस्किता को 5-0 से हराकर देश को चौथा ओलंपिक कोटा दिला दिया। सतीश ने 91 किग्रा से अधिक के वर्ग में मंगोलिया के ओटगोनबयार दैवी को 5-0 से हराया और भारत को पांचवां ओलंपिक कोटा दिलाया।

सचिन कुमार की 81 किग्रा में हार से मिली। सचिन कुमार को चीन के डेक्सिंग चेन से संघर्षपूर्ण मुकाबले में 2-3 से हार का सामना करना पड़ा। सचिन के लिए हालांकि टोक्यो ओलंपिक के लिए दरवाजे अभी पूरी तरह बंद नहीं हुए है और उन्हें टोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल करने के लिए एक और मौका मिलेगा। पांच मुक्केबाज क्वॉलिफाई करेंगे जबकि क्वार्टरफाइनल में हारने वाले मुक्केबाज को एक और मौका मिलेगा।

महिला वर्ग में साक्षी को सोमवार को 57 किग्रा वर्ग के क्वार्टरफाइनल में कोरिया की एजी इम से 0-5 से हार का सामना करना पड़ा। मनीष को 63 किग्रा में नजदीकी मुकाबले मंगोलिया के चिनजोरिग बातारसुख से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा। मनीष अभी कोटा के लिए मुकाबले से पूरी तरह बाहर नहीं हुए हैं और उन्हें अभी एक और मौका मिलेगा।

Updated : 10 March 2020 5:21 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top