Top
Home > खेल > अन्य खेल > भारतीय वायुसेना की टीम 25 साल बाद ओलंपिक में होगी शामिल

भारतीय वायुसेना की टीम 25 साल बाद ओलंपिक में होगी शामिल

भारतीय वायुसेना की टीम  25 साल बाद ओलंपिक में होगी शामिल
X

नईदिल्ली। भारत के पांच वायु योद्धा भी इस बार टोक्यो ओलंपिक 2021 में हिस्सा ले रहे हैं। भारतीय वायुसेना की टीम 25 साल बाद ओलंपिक खेलों में शामिल हो रही है। देश के लिए प्रदर्शन करने और पदक लाने के लिए पांच वायु योद्धाओं में चार प्रतिस्पर्धी और एक रेफरी के रूप में हिस्सा लेंगे। नीले रंग के योद्धाओं के लिए राष्ट्रीय ध्वज का प्रतिनिधित्व करने को वायुसेना ने देश के लिए गर्व की बात कही है।

वायुसेना ने खेल के राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति की है, जिसमें प्रतिभाशाली वायु योद्धाओं ने अपना धैर्य और दृढ़ संकल्प दिखाया है। एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों, विश्व कप और विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए प्रशंसा प्राप्त की है। पिछले कुछ वर्षों में भारतीय वायुसेना के खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन में लगातार सुधार किया है। अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों के लिए राष्ट्रीय कोचिंग शिविरों का हिस्सा बनने वाले वायु योद्धाओं की संख्या में भी वृद्धि हुई है। इसीलिए लगभग 25 साल बाद वायुसेना ने टोक्यो ओलंपिक 2021 के लिए भारतीय दल में पांच वायु योद्धाओं को भी शामिल किया है।

सार्जेंट शिवपाल सिंह -

वायुसेना की एथलेटिक्स टीम के सार्जेंट शिवपाल सिंह ने 25 जनवरी, 20 को दक्षिण अफ्रीका में एथलेटिक्स सेंट्रल नॉर्थ वेस्ट (एसीएनडब्ल्यू) लीग में 85.47 मीटर के प्रयास के बाद भाला फेंक स्पर्धा में टोक्यो ओलंपिक 2021 के लिए क्वालीफाई किया। इससे पहले सार्जेंट शिवपाल सिंह वायुसेना की एथलेटिक्स टीम की ओर से अक्टूबर, 2019 में चीन के वुहान में आयोजित सैन्य विश्व खेलों में 83.33 मीटर की दूरी तय करते हुए भाला फेंक स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच चुके हैं।

सार्जेंट नूह निर्मल टॉम -

वायुसेना की एथलेटिक्स टीम के सार्जेंट नूह निर्मल टॉम ने आईएएफएफ विश्व चैंपियनशिप 2019 में अपने प्रदर्शन के आधार पर भारतीय 4X400 मीटर मिश्रित रिले टीम के सदस्य के रूप में टोक्यो में ओलंपिक 2021 के लिए क्वालीफाई किया है। वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ एथलेटिक्स फेडरेशन की ओर से एथलेटिक्स में 17वीं विश्व चैंपियनशिप 27 सितम्बर से 06 अक्टूबर, 2019 तक कतर के दोहा के खलीफा इंटरनेशनल स्टेडियम में हुई थी। इस द्विवार्षिक वैश्विक एथलेटिक्स प्रतियोगिता का नाम बदलकर वर्ल्ड एथलेटिक्स कर दिया गया था।

जेडब्ल्यूओ दीपक कुमार -

वायुसेना की शूटिंग टीम के जेडब्ल्यूओ दीपक कुमार ने नवम्बर, 2019 में दोहा, कतर में आयोजित 14वीं एशियाई शूटिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में टोक्यो में ओलंपिक-2021 के लिए क्वालीफाई किया। 2019 में हुई एशियाई शूटिंग चैंपियनशिप ग्रीष्मकालीन ओलंपिक के लिए एशियाई क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के रूप में कार्य करता है।

एथलेटिक्स एलेक्स एंटनी -

वायुसेना की एथलेटिक्स टीम के सदस्य एलेक्स एंटनी ने 4X400 मीटर मिश्रित रिले में ओलंपिक 2021 के लिए क्वालीफाई किया। इस वायु योद्धा ने 25 जून से 29 जून, 21 तक पटियाला में आयोजित सीनियर इंटर स्टेट एथलेटिक्स चैंपियनशिप और 21 जून को पटियाला में आयोजित इंडियन ग्रां प्री-IV में भाग लिया। इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ एथलेटिक्स फेडरेशन की ओर से निर्धारित प्रवेश मानकों को पूरा करके वह टोक्यो ओलम्पिक में भाग लेने वाले भारतीय दल का हिस्सा बने हैं।

एमडब्ल्यूओ अशोक कुमार -

एमडब्ल्यूओ अशोक कुमार को यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) ने टोक्यो ओलंपिक खेलों की कुश्ती प्रतियोगिताओं में अंपायरिंग के लिए रेफरी के रूप में चुना है। वह पहले भारतीय रेफरी हैं जो एक के बाद एक ओलंपिक खेलों में अंपायरिंग करेंगे।

Updated : 22 July 2021 2:37 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top