Top
Home > खेल > क्रिकेट > युवराज सिंह के पिता ने इन लोगों पर लगाए यह आरोप, पढ़े पूरी खबर

युवराज सिंह के पिता ने इन लोगों पर लगाए यह आरोप, पढ़े पूरी खबर

युवराज सिंह के पिता ने इन लोगों पर लगाए यह आरोप, पढ़े पूरी खबर

नई दिल्ली। पिछले आईसीसी विश्व कप के दौरान ऑल राउंडर युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। युवराज सिंह ने 10 जून को क्रिकेट से अलविदा कह दिया था। इसके बाद युवी ने कुछ विदेशी लीग खेली हैं। हाल ही में उन्होंने कहा था कि उन्हें धोनी और विराट के मुकाबले सौरव गांगुली से ज्यादा सपोर्ट मिला है। युवराज ने कहा था, ''मैं सौरव गांगुली के नेतृत्व में खेला, उनसे मुझे बहुत समर्थन और सहयोग मिला। इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी ने चार्ज लिया, लेकिन माही और विराट से मुझे वैसा समर्थन नहीं मिला।'' युवराज सिंह के पिता भी काफी पहले से महेंद्र सिंह धोनी पर आरोप लगाते रहे हैं और अपने बेटे के करियर के खत्म होने के लिए उन्हें ही जिम्मेदार मानते हैं। अब एक बार फिर से उन्होंने धोनी, विराट और भारतीय चयनकर्ताओं पर आरोप लगाए हैं।

हाल ही में उन्होंने न्यूज 24 को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि धोनी और विराट के साथ कई लोगों ने युवराज सिंह की पीठ में छुरा घोंपा है। युवराज के पिता योगराज सिंह अपनी साफगोई के लिए जाने जाते हैं। वह अक्सर धोनी, विराट, भारतीय टीम और युवराज सिंह के मुद्दे पर बयान देने से नहीं चूकते हैं। पहले भी वह यह आरोप लगा चुके हैं कि धोनी ने करियर के अंतिम पड़ाव में युवराज को टीम में स्थापित नहीं होने दिया।

इस बार उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से भारतीय कप्तान विराट कोहली पर भी आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, ''भारतीय चयनकर्ताओं ने भी युवराज सिंह को धोखा दिया है।'' उन्होंने कहा कि सभी महान क्रिकेटरों को विदाई मैच खिलाया जाना चाहिए।

योगराज सिंह ने कहा, ''धोनी और विराट के अलावा चयनकर्ताओं ने भी युवराज को धोखा दिया। हाल ही में मैं रवि शास्त्री से मिला था। मैंने उनसे भी यही बात कही थी। मैंने कहा था कि जब धोनी, कोहली या रोहित रिटायर होते हैं तो उनकी विदाई भी सम्मानपूर्वक होनी चाहिए।''

योगराज सिंह ने पूर्व चयनकर्ता सरनदीप सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह नहीं चाहते थे कि युवराज को टीम में शामिल किया जाए। उन्होंने बीसीसीआई की इस बात के लिए आलोचना की कि ऐसे लोगों को चयनकर्ता बना दिया जाता है जो क्रिकेट के बारे में कुछ नहीं जानते। उन्होंने कहा कि सरनदीप चाहते थे कि युवराज को टीम से ड्रॉप किया जाए। हर व्यक्ति चिंतित था कि युवराज के साथ क्या होगा, जबकि वह लगातार परफॉर्म कर रहे थे।

बता दें कि युवराज सिंह आखिरी बार भारत के लिए फरवरी 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 इंटरनैशनल मैच में खेले थे। वहीं उन्होंने अपने करियर का आखिरी वनडे मैच 30 जनवरी 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ एंटिगुआ में खेला था। युवराज सिंह भारत की दो वर्ल्ड चैंपियन (2007 में वर्ल्ड टी20 और 2011 में वर्ल्ड कप) टीमों का हिस्सा रहे थे। दोनों ही टूर्नमेंट्स में उन्होंने अपने परफॉर्मेंस से टीम की जीत में बड़ा योगदान दिया था।

युवराज सिंह ने 40 टेस्ट मैचों में 1900 रन, वनडे की 278 पारियों में कुल 8701 रन अपने नाम किए हैं। उन्होंने 58 टी-20 इंटरनेशनल में 1177 रन बनाए हैं। युवराज के नाम टेस्ट में 9, वनडे में 111 और टी20 में 28 विकेट दर्ज हैं।

Updated : 6 May 2020 6:01 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top