Top
Home > खेल > क्रिकेट > सचिन तेंदुलकर को लेकर शोएब अख्तर बोले - क्रिकेट के भगवान की महानता आज भी कम नहीं हुई

सचिन तेंदुलकर को लेकर शोएब अख्तर बोले - क्रिकेट के भगवान' की महानता आज भी कम नहीं हुई

सचिन तेंदुलकर को लेकर शोएब अख्तर बोले - क्रिकेट के भगवान

दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट को अलविदा कहे हुए तकरीबन सात साल हो चुके हैं, लेकिन 'क्रिकेट के भगवान' की महानता आज भी कम नहीं हुई है। आज भी युवा क्रिकेटरों को सचिन की मिसाल दी जाती हैं और उनके रिकॉर्ड के उदाहरण दिए जाते हैं। अपने 24 साल के क्रिकेट करियर में सचिन तेंदुलकर ने शानदार टैलेंट, धैर्य, बेहतरीन चरित्र और रन बनाने की ललक को दिखाया। सचिन तेंदुलकर के नाम ऐसे कई रिकॉर्ड दर्ज हैं, जिन्हें किसी के लिए भी तोड़ना काफी मुश्किल हैं। सचिन के रिकॉर्ड्स को तोड़ने को लेकर अक्सर विराट कोहली का नाम सामने आता है, लेकिन पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का कहना है कि विराट की तुलना सचिन से करना गलत है।

सचिन तेंदुलकर के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन (34,357) बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है, लेकिन शोएब अख्तर का मानना है कि अगर तेंदुलकर इस युग में खेल रहे होते तो वह 1.30 लाख से भी ज्यादा रन बनाते।

विराट कोहली की तुलना अक्सर सचिन तेंदुलकर से की जाती है। विराट ने पिछले लगभग एक दशक में कई रिकॉर्ड तोड़े हैं। विराट एक शानदार बल्लेबाज और रन मशीन बनकर क्रिकेट की दुनिया में उभरे हैं। कई दिग्गजों को कहना है कि आने वालों सालों में विराट कोहली सचिन के कुछ और रिकॉर्ड भी तोड़ देंगे, लेकिन 'रावलपिंडी एक्सप्रेस' के नाम से मशहूर अख्तर का कहना है कि विराट के साथ सचिन की तुलना सही नहीं है।

शोएब अख्तर ने कहा कि सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के सबसे मुश्किल युग में खेले हैं, जहां हर टीम में कम से कम दो मैच जीतने वाले गेंदबाज होते थे। क्रिकेट पाकिस्तान के हवाले से शोएब अख्तर ने कहा, ''सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट के सबसे मुश्किल युग में बल्लेबाजी की है। अगर उन्हें अब के टाइम में खेलने का मौका मिलता तो वह 1.30 लाख से भी ज्यादा रन बना डालते। इसलिए अच्छा रहेगा कि सचिन और विराट की तुलना नहीं की जाए।''

हाल ही में सचिन तेंदुलकर ने आईसीसी के एक ट्वीट का जवाब देते हुए कहा था कि अगर वह और सौरव गांगुलू दोनों मौजूदा नियमों के साथ खेल रहे होते तो इससे भी ज्यादा रन बनाते। सचिन ने सौरव गांगुली को टैग करते हुए ट्वीट किया कि इससे पुरानी यादें ताजा हो गई हैं दादी। आपको क्या लगता है कि अगर हम लोग घेरे के बाहर चार खिलाड़ियों और दो नई गेंदों के साथ खेलते तो कितने और रन बनाते। सौरव गांगुली ने इस पर तुरंत जवाब दिया कि 4000 और रन... दो नई गेंदें... ऐसा लगता है कि जैसे पहले ओवर में कवर ड्राइव लगाई हो।

Updated : 20 May 2020 6:14 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top