Home > खेल > क्रिकेट > विराट के कैच ही नहीं, ये कारण भी बने RCB की हार की प्रमुख वजह

विराट के कैच ही नहीं, ये कारण भी बने RCB की हार की प्रमुख वजह

विराट के कैच ही नहीं, ये कारण भी बने RCB की हार की प्रमुख वजह
X

नई दिल्ली। कप्तान लोकेश राहुल की मात्र 69 गेंदों पर 14 चौकों और सात छक्कों की मदद से बनी नाबाद 132 रन की विस्फोटक शतकीय पारी की मदद से किंग्स इलेवन पंजाब ने विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को गुरुवार को आईपीएल मुकाबले में 97 रन से रौंद कर टूर्नामेंट में दो मैचों में पहली जीत दर्ज की जबकि बेंगलुरु को दो मैचों में पहली हार का सामना करना पड़ा। राहुल के विस्फोट से पंजाब ने 20 ओवर में तीन विकेट पर 206 रन का विशाल स्कोर बनाया और विशाल स्कोर के दबाव में बेंगलुरु की टीम 17 ओवर में मात्र 109 रन पर ढेर हो गई और उसे शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। इस मैच के दौरान विराट ने शतक जड़ने वाले केएल राहुल के दो आसान कैच छोड़े जो बाद में हारने की प्रमुख वजह बने। लेकिन आइए नजर डालते हैं उन अन्य कारणों पर जिसकी वजह से आरसीबी को हार का सामना करना पड़ा।

दुबई में बेंगलुरु की हार इसलिए भी ज्यादा शर्मनाक रही कि स्टार बल्लेबाजों से सजी बेंगलुरु की टीम कुल मिलाकर राहुल के स्कोर के आसपास भी नहीं पहुंच सकी। बेंगलुरु की टीम राहुल के 132 के स्कोर से 23 रन पीछे रह गई। आरसीबी के इस मैच में हारने की एक वजह यह भी रही कि विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने का फैसला किया। अगर पिछले कुछ मैचों पर नजर दौड़ाई जाए तो देखा गया कि ऐसा करने वाली टीम को हार मिली है। इससे पहले राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मैचों में जीत दर्ज की है।

207 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए आरसीबी के बल्लेबाजों के पास काफी दवाब था लिहाजा इस सूरत में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए स्पिनर गेंदबाज मुरुगन अश्विन और रवि बिश्नोई ने धाकड़ गेंदबाजी का प्रदर्शन किया। दोनों गेंदबाजों ने गुगली का बेहतरीन इस्तेमाल किया। किंग्स इलेवन पंजाब के इन दोनों लेग स्पिनरों ने कुल छह विकेट चटकाए। दोनों ने 3-3 विकेट बांटते हुए आरसीबी की बल्लेबाजी को ध्वस्त कर दिया। इन दोनों के इस प्रदर्शन के लिए शायद आरसीबी मैनेजमेंट ने रणनीति भी नहीं बनाई होगी।

Updated : 25 Sep 2020 6:03 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top