Latest News
Home > खेल > क्रिकेट > मप्र ने रचा इतिहास, पहली बार जीता रणजी का खिताब, मुंबई को 6 विकेट से हराया

मप्र ने रचा इतिहास, पहली बार जीता रणजी का खिताब, मुंबई को 6 विकेट से हराया

मप्र ने रचा इतिहास,  पहली बार जीता रणजी का खिताब, मुंबई को 6 विकेट से हराया
X

बेंगलुरु। मध्यप्रदेश की क्रिकेट टीम रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहली बार जीत दर्ज कर इतिहास रच दिया। फाइनल मुकाबले में अंतिम दिन मुंबई को 6 विकेट से हरा दिया। मैच के अंतिम दिन मध्यप्रदेश ने मुंबई की दूसरी पारी 269 रन पर समेट दी। जिसके बाद MP को जीत के लिए 108 रन का लक्ष्य मिला। जिसे टीम ने चार विकेट खोकर हासिल कर लिया।

इससे पहले शनिवार को चौथे दिन मध्य प्रदेश ने पहली पारी में मुम्बई के 374 रनों के जवाब में 536 रन बनाकर 162 रनों की बढ़त हासिल कर ली। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक शनिवार को मप्र ने मुम्बई की दूसरी पारी में 113 रन पर दो विकेट भी झटक लिये। मुम्बई अभी भी मप्र से 49 रन पीछे है और उसके दो बल्लेबाज पवेलियन लौट चुके हैं।

तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक नाबाद 67 रन बनाने वाले रजत पाटीदार ने चौथे दिन अपना शतक पूरा किया। वह इस फाइनल में मध्य प्रदेश की तरफ से शतक लगाने वाले तीसरे बल्लेबाज बने। इससे पहले यश दुबे (133) और शिवम शर्मा (116) ने शतक जमाए थे। रजत 20 चौकों की मदद से 219 गेंदों पर 122 रन बनाकर पवैलियन लौटे। उन्होंने आदित्य श्रीवास्तव (25) के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 60 रनों की साझेदारी की। मप्र के पुछल्ले बल्लेबाज सारांश जैन ने भी मुंबई के गेंदबाजों को खूब परेशान किया और 97 गेंदों में 57 रनों की शानदार पारी खेली। सारांश ने अपनी पारी में सात चौके लगाए। मध्य प्रदेश ने पहली पारी में 536 रन बनाए।

मुंबई की तरफ से शम्स मुलानी ने सबसे अधिक पांच विकेट लिये। मुलानी ने 63.2 ओवर्स की गेंदबाजी करते हुए 173 रन खर्च किए थे। तुषार देशपांडे ने 36 ओवर में 116 रन देकर तीन विकेट लिये। मोहित अवस्थी ने 32 ओवर में 93 रन देकर दो विकेट लिये। धवल कुलकर्णी को 24 और तनुष कोटियान को 22 ओवर की गेंदबाजी के बाद कोई भी विकेट नहीं मिली।

Updated : 2022-06-26T15:32:19+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top