Top
Home > खेल > क्रिकेट > गांगुली सहित कई भारतीय क्रिकेटरों ने राजिंदर गोयल के निधन पर किया शोक व्यक्त

गांगुली सहित कई भारतीय क्रिकेटरों ने राजिंदर गोयल के निधन पर किया शोक व्यक्त

गांगुली सहित कई भारतीय क्रिकेटरों ने राजिंदर गोयल के निधन पर किया शोक व्यक्त

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष व पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली सहित कई भारतीय क्रिकेटरों ने सोमवार को दिग्गज प्रथम श्रेणी क्रिकेटर राजिंदर गोयल के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। राजिंदर गोयल का 77 वर्ष की आयु में रविवार को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के कारण निधन हो गया है।

गांगुली ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि घरेलू क्रिकेट में गोयल का चौंका देने वाला रिकॉर्ड उनके बारे में सब कुछ बताता है।

गांगुली ने बीसीसीआई की एक आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति में कहा,"भारतीय क्रिकेट समुदाय ने आज घरेलू क्रिकेट का एक बड़ा हिस्सा खो दिया है। उनका चौंका देने वाला रिकॉर्ड आपको उनके कौशल के बारे में सब कुछ बताता है। उन्होंने एक ऐसा कैरियर बनाया है, जो 25 से अधिक वर्षों तक बना हुआ है और अभी भी युवा क्रिकेटरों को प्रेरित कर रहा है। खेल के प्रति उनका समर्पण और प्रतिबद्धता शानदार थी।"

गांगुली ने कहा, " 750 विकेट लेने में सक्षम होने के लिए वर्षों के मेहनत की जरूरत होती है और मैं उनके प्रयासों को सलाम करता हूं। मैं उनके परिवार के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त करता हूं।"

वहीं अश्विन ने ट्वीट किया, "बाएं हाथ के क्या बेहतरीन स्पिनर थे राजिंदर गोयल, मैंने सर आपको गेंदबाजी करते नहीं देखा है, लेकिन आपने एक विरासत छोड़ दी है जो हमेशा के लिए चलेगी। श्रद्धांजलि राजिंदर गोयल।"

भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने ट्वीट किया, " श्रद्धांजलि राजिंदर गोयल सर। मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं परिवार के साथ हैं। ईश्वर आपकी आत्मा को शांति दे।"

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कलात्मक बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने ट्वीट किया, "रणजी ट्रॉफी के इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले राजिंदर गोयल के निधन से गहरा दुःख हुआ है। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना।"

बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज गोयल ने 27 साल के करियर में 18.58 के औसत के साथ 750 प्रथम श्रेणी विकेट लिया है। उन्होंने 44 साल की उम्र तक प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला और पटियाला, दिल्ली, दक्षिणी पंजाब और हरियाणा का प्रतिनिधित्व किया। अनुभवी स्पिनर ने 59 बार एक पारी में पांच विकेट और 18 बार 10 मैच में विकेट हासिल किया है।

637 रणजी ट्रॉफी विकेटों के साथ, गोयल ने 1984-85 सीज़न में अपना आखिरी मैच खेला था। घरेलू क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड के बावजूद, गोयल ने कभी भी खेल के किसी भी प्रारूप में भारत के लिए नहीं खेला।

वर्ष 2017 में, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने राजिंदर गोयल को सीके नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया था।

Updated : 22 Jun 2020 2:40 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top