Top
Home > खेल > क्रिकेट > पूर्व भारतीय ओपनर अरुण लाल ने इमरान खान को लेकर किया बड़ा खुलासा

पूर्व भारतीय ओपनर अरुण लाल ने इमरान खान को लेकर किया बड़ा खुलासा

पूर्व भारतीय ओपनर अरुण लाल ने इमरान खान को लेकर किया बड़ा खुलासा

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय ओपनर और घरेलू क्रिकेट के शानदार बल्लेबाज अरुण लाल ने बताया कि किस तरह इमरान खान की अगुवाई में पाकिस्तानी तेज गेंदबाज बॉल से छेड़छाड़ करते थे। उन्होंने कहा कि गेंद से छेड़छाड़ के बाद तो इमरान खान की गेंदों को खेलना नामुमकिन हो जाता था। 80 के दशक को गेंदबाजी युग कहा जाता था। उस वक्त पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों की तूती बोलती थी। अरुण लाल 1982-89 के बीच खेले। अरुण लाल का कहना है कि 70-80 के दशक में गेंदबाजों का दबदबा था। वह एक कठिन युग था। सभी टीमों के पास शानदार गेंदबाज थे।

अरुण लाल ने स्पोर्ट्सकीड़ा से विशेष बातचीत में पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इमरान खान के साथ अन्य विषयों पर भी बातचीत की। जब उनसे पूछा गया कि किन गेंदबाजों का सामना करना उनके लिए कठिन था? इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ''इमरान खान को खेलना लगभग असंभव था। वह रिवर्स स्विंग का भरपूर इस्तेमाल करते थे। उस समय गेंद से छेड़छाड़ कानूनी थी। रिवर्स स्विंग की शुरुआत के बाद मेरे लिए इमरान खान को खेलना असंभव था।''

इमरान खान पहले गेंदबाज थे जिन्होंने रिवर्स स्विंग का इस्तेमाल किया। बाद में गेंद से छेड़छाड़ को गैर कानूनी घोषित कर दिया गया। अरुण लाल ने कहा, ''हालांकि कपिल देव जैसे स्विंग गेंदबाज उनकी टीम में थे, लेकिन इमरान खान गेंद को 6-8 इंच तक स्विंग कराते थे और बल्लेबाज आक्रांत हो उठता था।''

64 वर्षीय अरुण लाल ने इमरान की प्रशंसा करते हुए कहा, ''उन्हें कप्तान के रूप में देखना शानदार था। वह पूरी तरह फिट थे। 1982 के आसपास इमरान की पर्सनेलिटी और उनकी मौजूदगी अद्भुत थी। वह टीम की बहुत बढ़िया कप्तानी कर रहे थे।''

रिवर्स स्विंग के शुरुआती दिनों में पाकिस्तानी गेंदबाज गेंद से बहुत छेड़छाड़ करते थे, गेंद रिवर्स स्विंग के लायक बना देते थे। पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज सरफराज नवाज को रिवर्स स्विंग का पायनियर कहा जाता था। उन्होंने कभी इस बात को नहीं स्वीकारा कि वे रिवर्स स्विंग के लिए गेंद से छेड़छाड़ करते थे।

बता दें अरुण लाल ने 16 टेस्ट मैचों में 729 रन बनाए हैं। उन्होंने 13 वनडे मैचों में 122 रन बनाए। अरुण लाल फर्स्ट क्लास क्रिकेट करियर शानदार रहा है। उन्होंने 156 मैचों में 30 शतकों की मदद से 10,421 रन बनाए थे।

Updated : 17 July 2020 5:15 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top