Top
Home > खेल > क्रिकेट > बीसीसीआई ने अपने स्टार क्रिकेटरों को बीते 10 महीने का नहीं किया भुगतान

बीसीसीआई ने अपने स्टार क्रिकेटरों को बीते 10 महीने का नहीं किया भुगतान

बीसीसीआई ने अपने स्टार क्रिकेटरों को बीते 10 महीने का नहीं किया भुगतान

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ने अपने स्टार क्रिकेटरों को बीते 10 महीने का भुगतान नहीं किया है। बीसीसीआई के 27 इलीट अनुबंधित खिलाड़ियों को पिछले साल अक्टूबर के बाद से तिमाही किश्तों में से पहला इंस्टॉल्मेंट मिलना बाकी है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने दो टेस्ट, नौ वनडे और आठ टी-20 मैचों के लिए मैच फीस का भी वितरण नहीं किया है, जो नेशनल टीम ने दिसंबर 2019 से खेले हैं।

अनुबंधित क्रिकेटरों के लिए सालाना कुल रिटेनर राशि 99 करोड़ रुपये है, जो सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से जुड़े से खिलाड़ियों को उनकी ग्रेडिंग के हिसाब से साल में चार बार (प्रति तिमाही) मिलती है। ए प्लस ग्रेड में विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह हैं, जिन्हें साल के 7 करोड़ रुपये मिलते हैं। इसके बाद रेगुलर ग्रेड ए, बी, और सी हैं, जिनमें खिलाड़ियों को 5 करोड़ रुपये, 3 करोड़ रुपये और एक करोड़ रुपये मिलते हैं।

हर मैच के हिसाब से फीस है- टेस्ट की 15 लाख, वनडे की 6 लाख और टी-20 की 3 लाख रुपये। बीसीसीआई की अंतिम बैलेंस शीट के मुताबिक, मार्च 2018 तक इसमें 5,526 करोड़ रुपये की नकदी और बैंक बैलेंस था, जिसमें फिक्स्ड डिपॉजिट में 2,992 करोड़ रुपये शामिल थे। अप्रैल 2018 में बीसीसीआई ने स्टार टीवी के साथ 6,138.1 करोड़ रुपये के पांच साल के प्रसारण सौदे पर हस्ताक्षर किए।

बावजूद इसके अभी तक अनुबंधित क्रिकेटरों में से आठ ने बीसीसीआई को पुष्टि की है कि उन्होंने 10 महीनों में क्रिकेट स्टार्स को उनका बकाया नहीं दिया है। इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, जब बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। बोर्ड के सूत्रों ने इस देरी के लिए अनिश्चितता के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

बोर्ड में दिसंबर से मुख्य वित्तीय अधिकारी नहीं है और पिछले महीने से एक मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और महाप्रबंधक (क्रिकेट संचालन) की पोस्ट भी खाली है। सूत्र ने बताया, "इन महत्वपूर्ण प्रशासनिक पदों को पिछले पदाधिकारियों के अनुबंध के बाद से भरा नहीं गया था, जो वर्तमान डिस्पेंसेशन द्वारा बढ़ाया नहीं गया।

Updated : 2 Aug 2020 9:57 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top