Top
Home > विशेष आलेख > यशोधराराजे सिंधिया बधाई की पक्की हकदार हैं

यशोधराराजे सिंधिया बधाई की पक्की हकदार हैं

एशियाई खेलों में मध्यप्रदेश का प्रदर्शन

यशोधराराजे सिंधिया बधाई की पक्की हकदार हैं
X

- विवेक पाठक, स्वतंत्र पत्रकार

एशियन गेम्स में तीरंदाजी जैसी खास स्पर्धा में मप्र की बेटी मुस्कान किरार ने सिल्वर मेडल लाकर इस बार मप्र को विश्व खेल मंच पर बड़ा सम्मान दिलाया है। इस सिल्वर मेडल ने मुख्यमंत्री जी को भी मजबूर कर दिया था कि वे खेल मंत्री यशोधराराजे सिंधिया और उनकी जबलपुर तीरंदाजी अकादमी को इस खेल दिवस पर बारंबार सार्वजनिक बधाई दें। वे रुक ही नहीं सकते थे।

यशोधराराजे के प्रयासों से तीरंदाज बेटी को राज्य सरकार 75 लाख रुपए का ईनाम देने जा रही है। इस बेटी के मेडल के साथ मप्र के अन्य खिलाड़ियों ने कई मेडल और पक्के कर लिए हैं तो ऐसे में एशियाड के लिए खिलाड़ियों की मेहनत को देखते हुए और सफलता के लिए कामना करने के साथ ही इसके लिए वातावरण बनाने वालीं खेल मंत्री यशोधराराजे सिंधिया की कुछ विशेष बात -

मप्र के लिए इस बार का खेल दिवस देश और दुनिया में प्रतिष्ठित एशियन गेम्स के मेडल का पुरुस्कार लेकर आया। ये पुरुस्कार मप्र में कम समय में बेहतर खेल दिखाने वाले प्रादेशिक खिलाड़ियों ने दिया है। मप्र में खेल और खिलाड़ियों के लिए बेहतर वातावरण बनाने के लिए खेल मंत्री यशोधराराज सिंधिया को साधुवाद।

खेल मंत्री के रुप में उनकी पारी का मैं भले ही व्यक्तिगत प्रशंसक हूं मगर उनकी सफलता के आंकड़े सभी के लिए सार्वजनिक हैं एवं जिस पर हर कोई व्यक्ति पार्टी पंथ समर्थक और विरोधी का चोला उतारकर उनके काम की गति और सफलता की दर को देख और समझ सकता है।

एशियाड में मप्र की छवि को पीछा छोड़ते हुए चुस्त दुरुस्त खिलाड़ियों वाले मप्र की छवि सामने आने पर विजेताओं की तारीफ तो बनती है। देश में मप्र जैसे हिन्दी भाषी राज्य खेल की अधोसंरचना और खिलाड़ियों को प्रोत्साहन की कमी पदकों की खाली सूची के रुप में देश को दिखती रही है लेकिन पिछले कुछ सालों में मप्र में खेल का ऐसा वातावरण बना है कि एशियाड में मप्र के खिलाड़ी धूम मचाए हुए हैं।

मध्यप्रदेश की मुस्कान किरार ने प्रदेश को सिल्वर मैडल दिलाकर प्रदेश सरकार खासकर खेल मंत्रालय को प्रतिष्ठा दिलाई है।

इसके साथ ही मप्र के खिलाड़ियों ने हॉकी, सेलिंग और कियाकिंग में अपने पदक सुनिश्चित कर लिए हैं। सेलिंग में हर्षित तोमर तीसरे पायदान पर हैं जबकि केनोए सिंगल में मीरा दास फायनल में आ गए हैं। कयाक में सोनिया देवी, केनोए डबल में अंजलि वशिष्ठ और इनोचा देवी फाइनल में पहुंच गई हैं। महिला हॉकी में मध्यप्रदेश की खिलाड़ी रजत पदक की खुशी का उत्सव मना सकेंगीं।

मप्र के खिलाड़ियों का यह उम्दा प्रदर्शन उनके स्वयं के मेहनत का नतीजा है तो स्पोर्टसमैन स्पिरिट के भाव के साथ मेहनत को प्रोत्साहित करने और सरकार से हर संभव साधन दिलाने वाली प्रदेश की खेल एवं युवक कल्याण मंत्री यशोधराराजे सिंधिया के विशेष प्रयासों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । गांव ,देहात और कस्बे से आए नए खिलाड़ियों को इसके लिए बराबर प्रोत्साहित करती हैं।

यशोधराराजे के कार्यकाल की सबसे बड़ी उपलब्धि ये है कि उनके समय में उन सामान्य घरों के खिलाड़ी खेल के मैदान पर अपना भविष्य बनाने आने लगे हैं जिनमें खेलना मतलब समय खराब करना माना जाता था। आज ग्वालियर में राज्य महिला हॉकी अकेडमी में जाकर देख लीजिए। अधिकतर महिला खिलाड़ी वे हैं जो बहुत ही सामान्य और आम घरों से हॉकी खेलने आईं हुईं थीं। मप्र की महिला हॉकी अकादमी से 6 खिलाड़ियों का राष्ट्रीय टीम में चयन बीते साल अखबारों की बड़ी खबर बना था। महिला खिलाड़ी इस समय बढ़िया हॉकी खेल रही हैं और इन्होंने देश में प्रदेश का नाम रोशन किया है।

मप्र की अन्य खेल अकादमियों से भी अच्छे खिलाड़ी तैयार हो रहे हैं। इस बार जबलपुर और भोपाल की अकादमियों से निकले खिलाड़ियों ने जर्काता में दिल जीत लिया। भारतीय दल में मप्र के खिलाड़ियों का यह प्रदर्शन चौतरफा प्रशंसा पा रहा है। एशियाड में इस वक्त हॉकी, सेलिंग और कयाकिंग में मप्र का डंका बोल रहा है तो ये मध्यप्रदेश सरकार के साथ मप्र के हर नागरिक के लिए गौरव के क्षण हैं। सामान्य घर परिवारों के ये विजयी खिलाड़ी देश दुनिया में नाम कमाने के लिए पूरे प्रदेश के खिलाड़ियों के रोल मॉडल बन रहे हैं।

ये मेहनत देश दुनिया के खिलाड़ियों से गहरी दोस्ती रखने वाली एवं प्रदेश की खेल एवं युवक कल्याण मंत्री की देखरेख और प्रोत्साहन के बीच साकार हुई है इसलिए खेल जगत में खेल दिवस से शुरु हुए विजयी उल्लास और एशियाड की आगामी आशाओं के बीच मप्र की खेल मंत्री यशोधराराजे सिंधिया हम सबसे बधाई की पक्की हकदार हैं।

Updated : 2018-08-31T04:36:37+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top