Top
Home > धर्म > अपरा एकादशी के व्रत की विधि, पूजा, शुभ मुहूर्त

अपरा एकादशी के व्रत की विधि, पूजा, शुभ मुहूर्त

अपरा एकादशी के व्रत की विधि, पूजा, शुभ मुहूर्त

नई दिल्ली। हिंदू धर्म में एकादशी के व्रत को बेहद शुभ व्रत माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस व्रत को रखने से मनुष्य के सभी मनोरथ पूरे होते हैं और उसे अत्यंत पुण्य की प्राप्ति होती है। पंचांग के अनुसार ज्‍येष्‍ठ मास के कृष्‍ण पक्ष की एकादशी को पड़ने वाली अपरा एकादशी इस बार 18 मई सोमवार यानी क‍ि आज है। जिसे अचला एकादशी के नाम से भी पहचाना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है। पद्मपुराण के मुताबिक इस व्रत को करने वाले मनुष्य को जीते जी ही नहीं बल्कि मृत्यु के बाद भी लाभ मिलता है।

शुभ मुहूर्त

एकादशी तिथि का आरंभ: 17 मई 2020 को 12:44 बजे

एकादशी तिथि का समापन: 18 मई 2020 को 15:08 बजे

अपरा एकादशी पारण समय: 19 मई 2020 को प्रात: 05:27:52 से 08:11:49 बजे तक

अवधि: 2 घंटे 43 मिनट

व्रत की विधि-

-इस व्रत के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठकर स्नान कर लें।

-स्नान के बाद भगवान विष्णु के इस व्रत का संकल्प लेकर उनकी पूजा करें।

-इस व्रत में अन्न का सेवन नहीं करना चाहिए। जरूरत पड़ने पर फलाहार कर लें।

-शाम को विष्णु जी की अराधना करते हुए विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करें।

-एकादशी के दिन पूर्व संध्या को व्रती को सिर्फ सात्विक भोजन करना चाहिए।

-एकादशी का व्रत खोलने के बाद ब्राहम्णों को दान-दक्षिणा दें।

Updated : 18 May 2020 12:30 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top