Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > कोरोना से बचाव के लिए जनता द्वारा जनता स्वयं के ऊपर लगाये कर्फ्यू - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

कोरोना से बचाव के लिए जनता द्वारा जनता स्वयं के ऊपर लगाये कर्फ्यू - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

कोरोना के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को किया संबोधित

कोरोना से बचाव के लिए जनता द्वारा जनता स्वयं के ऊपर लगाये कर्फ्यू - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नईदिल्ली। चीन से निकल पूरे विश्व में फैले कोरोना वायरस के मामले भारत में भी लगातार बढ़ते जा रहे है। इस बीमारी से देश में बढ़ते खतरे के प्रति सावधानी बरतने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राष्ट्र को संबोधित कर रहे है। उन्होंने कहा की कोरोना का संकट पूरे विश्व में मानव जाती को संकट में दाल दिया है। दोनों विश्व युद्ध में भी इतने देशो पर प्रभाव नहीं डाला जितने देशो में इस बीमारी ने प्रभाव डाला है ।

वैश्विक बीमारी के प्रति लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए इसके प्रति सावधानी बरतने की बेहद जरुरत है। आज मैं सभी 130 करोड़ देशवासियों से आपका आने वाला कुछ समय चाहिए, अब तक विज्ञान इस बीमारी से लड़ने के लिए कोई निश्चित दवाई नहीं मिली है, ना ही कोई टीका मिला है। विदेशों में ज्यादातर देशो में शुररात के बाद के सप्ताह में यह महामारी बड़ी तेजी से फैली है। ज्यादातर देशो ने अपने यहाँ के लोगों को आइसोलेट कर इस स्थिति पर विजय पाई है।

भारत जैसे बड़ी आबादी वाले देश में इस बीमारी पर विजय प्राप्त करने के लिए दो चीजे चाहिए संकल्प की जरुरत है । देशवासियों को संकल्प करना होगा सरकार के दिए दिशा-निर्देश का पालन करेंगे और स्वयं को बचाएंगे एवं अन्यो को भी स्वस्थ रखने में सहयोग रखेंगे। इसके लिए दूसरी महत्वपूर्ण बात है संयम रखना। सभी लोगों को खुद को आइसोलेट करना चाहिए । बुजुर्ग एवं बच्चे घर से बाहर नहीं निकले, यदि हम सोचते है की सब सही है हम बाहर घूम सकते है तब आप स्वयं को एवं अपने परिवार को खतरे में दाल सकते है। हमें कुछ नहीं होगा यह धरना गलत साबित हो सकती है।

दो दिन बाद 22 मार्च की सुबह जनता को स्वयं द्वारा स्थापित कर्फ्यू का पालन करें। नाही किसी पार्टी में जाएँ, नाही किसी सोसाईटी में बिना वजह किसी कारण शामिल हो ।जो लोग जरुरी कार्यों एवं सेवाओं से जुड़े है वह ही घर से बाहर निकले । इस वैश्विक महामारी से भारत कितना तैयार है, यह देखने का समय है । उन्होंने कहा की देश में जो सफाई कर्मी, डॉक्टर्स, नर्स, जो मरीजों की देखभाल करने वाले लोगों का 22 मार्च को अपने घर से ताली बजाकर धन्यवाद दे। इस समय रूटीन चेकअप से बचना चाहिए अपनी जान-पहचान के डॉक्टर्स से ही फोन के माध्यम से दवा लें ।

सरकार वित्त विभाग के नेतृत्व में एक टास्क फ़ोर्स गठित करने की योजना बना रहीं है, जो निकट भविष्य में इस बीमारी के खिलाफ कार्य करेंगे। व्यापारी वर्ग से निवेदन करते हुए कहा की आपके कर्मचारी यदि कार्य पर ना आ पाएं तो उनका वेतन ना काटे।नागरिक आवश्यकता से अधिक घरो में उपयोगी वस्तुओं का भण्डरण ना करें सामान्य खरीददारी करें। इस वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ने के लिए राज्य सरकार भी लोगों को जनता कर्फ्यू में भाग लेने के लिए प्रेरित करें ।

देश भर मे 18 नए मामले सामने आने के बाद इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 169 हो गई है। जिसमें से अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है। इस वायरस से संक्रमित लोगों में २५ विदेशी नागरिक भी शामिल है। जिनमें से तीन फिलीपींस, दो ब्रिटेन, सत्रह इटली, एक इंडोनेसिया एवं एक कनाडा का नागरीक शामिल है । महाराष्ट्र में तीन विदेशियों सहित 45 लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए है।इसके बाद दूसरे नंबर पर केरल राज्य है जहां 2 विदेशियों सहित कुल 27 मामले सामने आये हैं । उत्तर प्रदेश में अब तक यह संख्या 17 हैं । इसके बाद दिल्ली में यह संख्या 12 है। आज छत्तीसगढ़ में भी पहला कोरोना संक्रमित पेशेंट सामने आये है ।


Updated : 2020-03-20T12:35:02+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top