Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > दिल्ली में सबसे ज्यादा खतरनाक इलाके, जानें हाल

दिल्ली में सबसे ज्यादा खतरनाक इलाके, जानें हाल

दिल्ली में सबसे ज्यादा खतरनाक इलाके, जानें हाल

नई दिल्ली। दिल्ली में निजामुद्दीन पश्चिम और दिलशाद गार्डन के एल ब्लॉक को कोरोना संक्रमण का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट माना गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इन इलाकों में पैनी नजर रखी जा रही है।

स्वास्थ्य विभाग की महानिदेशक डॉक्टर नूतन मुंडेजा का कहना है कि इन क्षेत्रों का सर्वे कर लिया गया है। यहां संक्रमित लोगों के सपंर्क आने वाले सभी लोगों को क्वारंटाइन किया गया है या अस्पताल में भर्ती कराया गया है। क्षेत्र में जिन लोगों में भी कोरोना के लक्षण मिले हैं, उन्हें अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है। अन्य लोगों में भी लक्षण दिखेंगे तो उन्हें तुरंत अस्पताल लाया जाएगा। निजामुद्दीन इलाके की दो मस्जिदों में हुए एक कार्यक्रम से देशभर में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ गए हैं।

एम्स के डॉक्टर नवल विक्रम के मुताबिक कोरोना का संक्रमण जब किसी एक इलाके में तेजी से फैलता है तो उस इलाके को कोरोना का हॉटस्पॉट कहा जाता है। इतने बड़े पैमाने पर मरीजों के मिलने से यह इलाका दिल्ली में कोरोना के संक्रमण का हॉटस्पॉट बन गया है।

निजामुद्दीन पश्चिम इलाके में रहने वाले लोगों में भय का माहौल है। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार इलाके में लोगों की स्क्रीनिंग कर रही है। किसी भी व्यक्ति में लक्षण दिखते ही उसे अस्पताल पहुंचाया जा रहा है। उस व्यक्ति के सपंर्क में आने वाले अधिकतर लोगों को आइसोलेशन केंद्र ले जाया जा रहा है। अलग-अलग अस्पतालों में यहां से लाए गए 600 से ज्यादा लोग भर्ती हैं। यहां के करीब 1200 लोग आइसोलेशन केंद्रों में भर्ती किए गए हैं। एक दुकानदार ने बताया कि यहां स्वास्थ्य विभाग और दिल्ली पुलिस की टीम माइक पर जगह-जगह घोषणा कर रहीं है कि जिन लोगों को खांसी, जुकाम और बुखार जैसे लक्षण हैं वे तुरंत सपंर्क करें। ड्रोन से यहां के पूरे इलाके को सेनेटाइज किया जा रहा है। शुक्रवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम ने भी इलाके का दौरा किया।

पूर्वी दिल्ली का दिलशाद गार्डन भी कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट है। दिलशाद गार्डन में कोरोना के लक्षण पाए जाने पर बड़ी संख्या में लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। यहां एल पॉकेट के दोनो तरफ पुलिस की बैरिकेडिंग है। हर आने जाने वाले से सघन पूछताछ हो रही है। एल पॉकेट के लोगों के आने जाने के लिए बस एक रास्ता खोला गया है। इस इलाके को सील कर दिया गया है। इसके बाहर सन्नाटा पसरा हुआ है। एक स्थानीय दुकानदार ने बताया कि डियर पार्क में पहले सुबह शाम एल पॉकेट के अधिकांश लोग योग व्यायाम करते दिखाई देते थे। लेकिन, अब यहां सन्नाटा है। लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे। एक रास्ता खोला गया है जिसके माध्यम से यहां के वह लोग जो क्वारंटाइन नहीं हुए हैं वह आवश्यक सामान लाने जा रहे हैं।

Updated : 4 April 2020 6:14 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top