Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > माद से निकला साद फिर अचानक गायब

माद से निकला साद फिर अचानक गायब

माद से निकला साद फिर अचानक गायब

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमणकाल में हठधर्मिता करने पर सरकारी शिकंजा कसने पर माद में छिप गया निजामुद्दीन तबलीगी जमात मरकज का मुखिया मौलाना मोहम्मद साद आज मस्जिद में दिखाई दिया। शुक्रवार को नमाज पढऩे के बहाने उ️सके बाहर आने का उ️द्देश्य मुस्लिम समाज को यह संदेश दिया है कि वह स्वस्थ्य है। हालांकि इस मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच साद की गर्दन पर कब हाथ डालती है, यह देखना दिलचस्प होगा।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद की तलाश कर रही है। साद के घर और अन्य ठिकानों पर छापामारी के बाद भी साद पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया। पता चला है कि दिल्ली के जाकिर नगर वेस्ट क्षेत्र में अबू बकर मस्जिद में मौलाना साद को देखा गया है। कहते हैं कि वह नमाज पढऩे आया था। लेकिन बताया ये भी जा रहा है कि मस्जिद में वह ज्यादा देर नहीं रूका। मतलब, यहसाफ है कि वह नमाज पढऩे नहीं आया था, बल्कि मुस्लिम समाज को यह संदेश देने आया था कि वह दिल्ली में है और पुलिस पकड़ से दूर है। दिल्ली पुलिस साद को क्यों गिरफ्तार नहीं कर रही, इसके कई कारण हो सकते हैं। निजामुद्दीन तबलीगी जमात मरकज मामले में जिस तरह की कार्रवाई हो रही है, उ️ससे साफ लग रहा है कि पुलिस किसी मौके की ताड़ में है। मरकज में शामिल हुए विदेशी मुस्लिमों पर शिकंजा कस दिया गया है। तबलीगी जमात मरकज मामले में साद के बेटे भी पुलिस की रडार में आ गए हैं।

मरकज का आतंकवादी तथा दिल्ली दंगों से तार जुड़े होने की कहानी भी खुल गई है. बावजूद इसके क्राइम ब्रांच का साद की गर्द्रन में हाथ नहीं डालना जता रहा है कि साद के पीछे की पूरी कडिय़ों करो जोडऩे के बाद शायद पुलिस उ️से पकडऩा चाहती है, जिससे संदेह का लाभ लेकर वह बचने नहीं पाए। सबको मालूम है कि मार्च में तबलीगी जमात के मरकज में आयोजन किया गया था, जिसमें काफी संख्या में लोग शामिल हुए थे। इस आयोजन में विदेश से आए कई जमाती भी शामिल हुए थे। तेलंगाना से लेकर मप्र, उ️प्र, झारखंड, बिहार तक की कई मस्जिदों से कई विदेशी पकड़े गए थे। इनमें से ज्यादातर टूरिस्ट वीजा पर भारत आए थे। उ️स समय देश में तेजी से कोरोना मामले बढऩे के कारण यही जमाती थे।

कोरोना को लेकर मौलाना साद सहित 6 लोगों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। निजामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज की जांच सीबीआई कर रही है। सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय जांच एजेंसी ने दिल्ली की क्राइम ब्रांच से मरकज से संबंधित जानकारी मांगी थी, जो उ️से मिल गई है। दिल्ली पुलिस की ओर से देश में कोरोना वायरस फैलाने के लिए पहले से ही मरकज के खिलाफ जांच की जा रही है।

Updated : 2020-06-14T06:56:11+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top