Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > Covid-19 जांचने के लिए अब 21 राज्यों में एंटीबॉडी परीक्षण करने जा रही सरकार

Covid-19 जांचने के लिए अब 21 राज्यों में एंटीबॉडी परीक्षण करने जा रही सरकार

Covid-19 जांचने के लिए अब 21 राज्यों में एंटीबॉडी परीक्षण करने जा रही सरकार

नई दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सिंह ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि पिछले कुछ हफ़्तों से कोरोना के नए मामले बढ़ रहे हैं। इसके लिए देश में कोरोना टेस्ट की क्षमता बढ़ाई गई है और 347 सरकारी प्रयोगशालाओं और 137 निजी प्रयोगशालाओं के साथ प्रति दिन 1, 00,000 परीक्षण हो रहे हैं। कोविड -19 के लिए अब तक 17, 62,840 परीक्षण किए जा चुके हैं। जबकि, 86,191 नमूनों का कल परीक्षण किया गया था।

पिछले 14 दिनों में मामले दोगुना होने का समय 10.9 दिन रहा है। हालांकि केवल पिछले तीन दिनों में ये सुधार के साथ 12.2 दिन हो गया है। इसके अलावा, बीमारी की मृत्यु दर 3.2% है, और लोगों के ठीक होने की दर 31.74% है, जो कई अन्य प्रभावित देशों की तुलना में बेहतर है। सोमवार तक, गहन देखभाल (आईसीयू) में 2.37% सक्रिय कोविड -19 रोगियों का इलाज चल रहा है, 0.41% रोगी गंभीर हैं, और वेंटिलेटर पर हैं, और 1.82% ऑक्सीजन पर हैं।

हर्षवर्धन ने कहा कि- "प्रवासी मज़दूरों की वापसी के मद्देनजर, राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों को अधिक प्रभावी निगरानी, ​​संपर्क अनुरेखण, पर्याप्त टेस्ट और सभी वापसीकर्ताओं के समय पर उपचार पर ध्यान देने की आवश्यकता है। इसमें वे भी शामिल हैं जो विदेश से लौट रहे हैं। "

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के साथ मिलकर मंत्रालय 21 राज्यों के 69 जिलों में 24000 व्यस्कों पर SARS-CoV-2 की व्यापकता का अनुमान लगाने के लिए एक समुदाय आधारित सीरो-सर्वेक्षण भी कर रहा है। SARS-CoV-2 ही वह वायरस है जो कि कोविड -19 का कारण बनता है। आईसीएमआर ने एक बयान में कहा कि"सर्वेक्षण आईसीएमआर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी (एनआईई) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च इन ट्यूबरकुलोसिस (एनआईआरटी), चेन्नई द्वारा समन्वित है। इस घरेलू स्तर के क्रॉस-सेक्शनल सर्वे में कोविड -19 के रिपोर्ट किए गए मामलों के आधार पर वर्गीकृत किए गए जिलों के चार क्षेत्रों में समान रूप से वितरित 24,000 वयस्कों को शामिल किया जाएगा"।

Updated : 14 May 2020 5:35 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top