Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > श्रद्धालुओं के लिए आज से खुले मंदिरों के ताले, सोशल डिस्टेंसिंग सहित कई नियमों पर दिया जा रहा जोर

श्रद्धालुओं के लिए आज से खुले मंदिरों के ताले, सोशल डिस्टेंसिंग सहित कई नियमों पर दिया जा रहा जोर

श्रद्धालुओं के लिए आज से खुले मंदिरों के ताले, सोशल डिस्टेंसिंग सहित कई नियमों पर दिया जा रहा जोर

दिल्ली। मार्च के आखिरी हफ्ते में जब लॉकडाउन के बाद भी देश में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा। लेकिन अब सरकार ने सोमवार से लॉकडाउन में ढील देना शुरू कर दिया है। छूट के तहत दिल्ली समेत देश के ज्यादातर हिस्सों में धार्मिक स्थल, शॉपिंग मॉल, रेस्तरां आदि खोले जा रहे हैं। महाराष्ट्र में ना तो मॉल खुलेंगे और ना ही धार्मिक स्थल।दफ्तर 10 फीसदी स्टॉफ के साथ खुलेंगे, लेकिन पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद रहेगा। वहीं राजस्थान में आज धार्मिक स्थल नहीं खोले जा रहे हैं, लेकिन होटल रेस्त्रां और मॉल खोल दिया गया है। यूपी के गाजिय़ाबाद में फिलहाल मॉल नहीं खुलेंगे। काशी विश्वनाथ मंदिर को भी नहीं खोलने का फैसला किया गया है।

वहीं कई मंदिर और अन्य धार्मिक स्थल ऐसे भी हैं जिन्हें अभी नहीं खोला जाना है। ये वे मंदिर हैं जिनमें भारी भीड़ उमड़ती है और संक्रमण का खतरा अधिक है। मथुरा जिला प्रशासन ने वृंदावन स्थित बांके बिहारी समेत सभी मंदिरों को 30 जून तक बंद रखने का फैसला किया है। पंचकूला का प्रसिद्ध मनसा देवी मंदिर भी आज नहीं खुलेगा। मंदिर को 9 जून से खोलने का फैसला किया गया है।

मिर्जापुर का मां विंध्यवासिनी धाम, लखनऊ की आसिफी मस्जिद शमिल हैं। बाराबंकी में देवा शरीफ मजार भी 24 जून से पहले नहीं खुलेगी। वहीं वाराणसी का काशी विश्वनाथ मंदिर मंगलवार से खुलेगा। दिल्ली में मरघट वाले हनुमान मंदिर को भी आज श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला जाएगा। जम्मू-कश्मीर में भी वैष्णो देवी समेत धार्मिल स्थल नहीं खोले जा रहे हैं। उज्जैन का महाकाल मंदिर खोल दिया गया है। हरिद्वार में श्रद्धालु हर की पैड़ी में स्नान कर सकेंगे।

साथ ही सरकारी दफ्तर भी पूरी तरह खुल जाएंगे। हालांकि अधिक कंटेनमेंट जोन वाले शहरों व जिलों में फिलहाल इन्हें खोले जाने पर अंतिम निर्णय नहीं हो सका है। प्रदेश सरकार ने वहां के जिलाधिकारियों को इस संबंध में निर्णय लेने का अधिकार दे दिया है।

Updated : 8 Jun 2020 5:37 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top