Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > डीयू के शिक्षकों ने कहा - ऑनलाइन क्लासेस में हो रही छेड़छाड़, भेजे जा रहे अश्लील मैजेस

डीयू के शिक्षकों ने कहा - ऑनलाइन क्लासेस में हो रही छेड़छाड़, भेजे जा रहे अश्लील मैजेस

डीयू के शिक्षकों ने कहा - ऑनलाइन क्लासेस में हो रही छेड़छाड़, भेजे जा रहे अश्लील मैजेस

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी पर चल रहे लॉकडाउन में दिल्ली विश्वविद्यालय के सभी कॉलेजों में ऑनलाइन क्लासेस शुरू कर दी गई हैं। लेकिन ये ऑलाइन या वेब क्लासेस कई शिक्षकों के लिए यह परेशानी सबब बन रही हैं।

कई शिक्षकों ने शिकायत की है कि कुछ असामाजिक तत्व जो कि परमानेंट नहीं हैं वे इस मीडियम का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं और शिक्षकों को अश्लील मैसेज व अश्लील फोटो भेजकर परेशान कर रहे हैं। डीयू कॉलेजों के कई शिक्षकों ने बताया कि कुछ लोगों द्वारा छेड़छाड़ का शिकार हुए हैं। शिक्षकों ने बताया कि उन्होंने इस बारे में विश्‍वविद्यालय प्रशासन को सूचना दी है।

नाम न उजागर करने की शर्त पर साउथ कैम्पस के एक कॉलेज के शिक्षक ने बताया कि पिछले सप्ताह वह जूम पर ऑननलाइन क्लास ले रहे थे तभी एक शख्स उनसे जुड़ा औैर चैट पर अश्लील संदेश भेजने लगा। यह जो कुछ हो रहा था उसके छुटकारा पाने में उन्हें कुछ मिनट गंवाने पड़े। यह हम सबके लिए शर्मनाक बात है। हमें अचनाक क्लासेस बंद करनी प्ड़ी थीं। इसके बाद रिकॉर्डेड वीडियो के जरिए लेक्चर को छात्रों तक पहुंचाया। ऑनलाइन क्लास के दौरान जुड़ने वाले शख्स को पहचानने की कोशिश की गई तो पता चला कि इस नाम से उनकी क्लास में कोई छात्र नहीं है।

वहीं पश्चिमी दिल्ली की एक वीमेन कॉलेज की फैकल्टी ने भी इस तरह की हरकत की शिकायत की। उन्होंने बताया कि कोई बाहरी व्यक्ति उनकी क्लास में शामिल हो जाता है। छात्रों को वॉट्स ग्रुप पर जो लिंक भेजा जाता है उसके जरिए वह उनसे जुड़ जाता है। हम इस समस्या का समाधान ढूढ़ने की कोशिश कर रहे हैं।

डीयू एग्जीक्यूटिव काउंसिल के सदस्य राजेश झा ने बताया कि कई महिला शिक्षिकाओं ने इस बारे में उन्हें जानकारी दी है कि लाइव क्लास के दौरान उनके साथ छेड़छाड़ हो रही है। लाइव क्लासेस के लिए शिक्षक छात्रों को वाट्स पर जूम (Zoom) या गूगल मीट का लिंक भेजते हैं जिसके जरिए ईमेल लॉग से छात्र उनसे जुड़ जाते हैं। इससे साफ पता चलता है कि छात्र किसी बाहरी व्यक्ति को यह लिंक शेयर करते हैं जिससे वह लाइव क्लास में जुड़ जाता है। कई देशों में लाइव क्लासेस के दौरान ऐसी दिक्कतों की शिकायतें सामने आ रहीी हैं।

Updated : 13 April 2020 7:08 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top