Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > दिल्ली में एक परेशानी खत्म नहीं हो पाई तब तक दूसरी शुरू, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

दिल्ली में एक परेशानी खत्म नहीं हो पाई तब तक दूसरी शुरू, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

-अब पानी की कमी से जूझ रहे लोग, 3-3 घंटे लगना पड़ता है कतार में

दिल्ली में एक परेशानी खत्म नहीं हो पाई तब तक दूसरी शुरू, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन की स्थिति है। राजधानी दिल्ली में भी कोरोना का कहर जारी है लेकिन इस बीच लोगों के आगे एक और परेशानी आ पड़ी है। दरअसल दिल्ली से लगे चिल्ला गांव से लोग पानी की कमी से जूझ रहे हैं और वे दिल्ली जल बोर्ड के ट्रकों से पीने का पानी इकट्ठा करने के लिए आते हैं। ये लोग बताते हैं, "हमें पानी की कमी के कारण पीने के पानी को इकट्ठा करने के लिए कम से कम 2-3 घंटे तक कतार में लगना पड़ता है। पानी का टैंकर 3-4 दिनों में केवल एक ही बार आता है"। हालांकि इस दौरान सामने आई तस्वीरों में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते दिख रहे हैं।

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलो में कमी देखी जा रही है, जो संकट के इस घड़ी में किसी राहत से कम नहीं है। पिछले 12 घंटे में कोरोना वायरस के 543 नए मामले सामने आए हैं, जो शुक्रवार (628 केस) की तुलना में कम ही हैं। वहीं कोरोना से मौत की बात करें तो पिछले 12 घंटे में 28 मौतें हुई हैं, मगर यह आंकड़ा कल (17 मौतें) की तुलना में थोड़ा अधिक है। हालांकि, कोरोना वायरस के प्रसार में गिरावट के रुझान देखने को मिल रहे हैं। शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों क मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 14378 हो गई है। वहीं, इस खतरनाक कोविड-19 महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 480 पहुंच गया है। कोरोना वायरस के कुल 14378 मामलों में से 11906 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 1991 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। कोरोना वायरस से सर्वाधिक 201 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 3855 हो गई है।

महाराष्ट्र में सबसे अधिक कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के कुल 3855 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। कोरोना के इन कुल केसों में से 3323 केस एक्टिव हैं और 331 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 201 लोगों की जान जा चुकी है।

Updated : 18 April 2020 8:09 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top