Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > पीएफआई का सदस्य दानिश गिरफ्तार

पीएफआई का सदस्य दानिश गिरफ्तार

पीएफआई का सदस्य दानिश गिरफ्तार

नई दिल्ली। केंद्रीय खुफिया इकाइयों के इनपुट पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रविवार को इस्लामिक स्टेट ऑफ खोरासन प्राविंस (आईएसकेपी) से कथित तौर पर जुड़े कश्मीर मूल के एक जोड़े को गिरफ्तार किया था। जिन्हें कोर्ट के समक्ष पेश कर 17 मार्च तक रिमांड पर लिया गया। इधर स्पेशल सेल ने दोनों जोड़े से पूछताछ के बाद बीती देर रात त्रिलोकपुरी से पीएफआई के एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है।आरोपित का नाम दानिश है, जिससे उत्तर पूर्वी हिंसा से जुड़ी घटनाओं को लेकर पूछताछ की जा रही है। फिलहाल स्पेशल सेल के अलावा राष्ट्रीय जांच दल (एनआईए) भी तीनों आरोपितों से पूछताछ कर रही है।

आतंकी संगठन खुरासन मॉड्यूल का खुलासा

स्पेशल सेल द्वारा पकड़े गये जहानजेब सामी उर्फ दाऊद ईब्राहिम उर्फ जैब उर्फ अबू मुहम्मद अल हिंद (36) और उसकी पत्नी बशीर बेग (39) की गिरफ्तारी के बाद स्पेशल सेल ने खुलासा किया है कि प्रदर्शनकारियों की भीड़ को भड़काकर यह बड़ी आतंकी वारदात अंजाम देने वाले थे। पकड़ा गये दम्पति पिछले साल अगस्त माह से ही जामिया नगर इलाके में रह रहा था और सीएए और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शनकारियों को लगातार उकसाकर फिदायीन हमला करवाने की फिराक में था। साथ ही दम्पति सोशल मीडिया पर इंडियन मुस्लिम यूनाइटेड नामक पेज बनाकर लगातार लोगों को जोड़कर नए कानून के विरोध में मुहीम चला रहा था। उधर, इस खुलासे के बाद शाहीन बाग और जामिया में चल रहे विरोध प्रदर्शन में शामिल प्रदर्शनकारियों पर प्रशासन की नजरें तिरछी हो गई है।

दोनों के तार अफगानिस्तान और पाकिस्तान में

दोनों के तार अफगानिस्तान और पाकिस्तान में सक्रिय आईएसआईएस मॉड्यूल से प्रभावित खुरासन आतंकी संगठन से बताए जा रहे हैं। दोनों पर शाहीन बाग में धरने पर बैठे लोगों को आतंकी हमले के लिए उकसाने का आरोप है। पुलिस ने इनके पास से चार मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, एक हार्ड डिस्क और कुछ अन्य आपत्तिजनक सामान बरामद किया है।

गैर-मुस्लिमों की हत्या के लिए उकसा रहे थे आरोपित

डीसीपी प्रमोद कुशवाह ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि वे आईएसआईएस मॉड्यूल के आतंकी विचारधारा का प्रचार-प्रसार करने में लगे हुए थे। वे लगातार गैर-मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ और उकसाने वाली बातों को फैला रहे थे। इतना ही नहीं पुलिस की मानें तो दोनों मिलकर मुस्लिमों को गैर-मुस्लिमों की हत्या करने के लिए भी उकसा रहे थे।

क्या है खुरासन मॉड्यूल

जामिया नगर में संदिग्ध आतंकी संगठन से जुड़े दम्पति की गिरफ्तारी के बाद सुर्खियों में आए खुरासन आतंकी मॉड्यूल भारत में पहले भी आतंकी हमलों की वजह से सुर्खियों में रहा है। मध्य प्रदेश में ट्रेन धमाके की कोशिश और लखनऊ में एनकाउंटर के दौरान भी आतंकी संगठन खुरासन का नाम चर्चा में आया था। खुरासन आतंकी मॉड्यूल ने ही मध्य प्रदेश में पैसेंजर ट्रेन में धमाके की कोशिश की थी, हालांकि उससे पहले आतंकियों की हुई गिरफ्तारी के कारण हमला असफल हो गया था। आईएसआईएस का खुरासान मॉड्यूल पाकिस्तान के तहरीक-ए-तालिबान का एक हिस्सा है, जो खास तौर से पाकिस्तान और अफगानिस्तान में सक्रिय है। यह संगठन अपने बांग्लादेशी ब्रांच की मदद से भारत में आतंकियों को भर्ती करता है। 2016 में हैदराबाद के 6 युवकों को जब कोलकाता में पकड़ा गया था, तब यह खुलासा हुआ था कि ये आतंकी बांग्लादेश के रास्ते सीरिया जाने की फिराक में थे। वहीं दिसम्बर 2016 में एनआईए ने तमाम एजेंसियों के साथ मिलकर देश के अलग-अलग शहरों में छापेमारी की थी और आईएसआईएस के खुरासन संगठन के 17 सदस्यों को पकड़ा था।

कई जगह हो रही है छापेमारी

स्पेशल सेल के सूत्रों की माने तो तीनों की गिरफ्तारी के बाद स्पेशल सेल एनआईए के साथ मिलकर दंगा प्रभावित सभी इलाकों में छापेमारी कर रही है। सूत्रों की माने तो तीनों आरोपितों के साथ और भी लोग शामिल है। जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।

Updated : 9 March 2020 12:32 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top