Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > मेवात का पुलिस व स्थानीय प्रशासन सवालों के घेरे में

मेवात का पुलिस व स्थानीय प्रशासन सवालों के घेरे में

यौन उत्पीड़न व कनवर्जन का शिकार हो रहे मेवात के दलित परिवार

मेवात का पुलिस व स्थानीय प्रशासन सवालों के घेरे में

नई दिल्ली। दिल्ली से सटे राज्य हरियाणा का छोटा सा जिला मेवात इन दिनों कनवर्जन के कारण सुर्खियों में है। मेवात में हो रहे दलितों के उत्पी?न के खिलाफ कई हिन्दू संगठनों ने आवाज उठाई है। रिपोर्ट के मुताबिक दलित समुदाय की बहू.बेटियों के साथ यौनाचार की बढ़ती घटनाओं के कारण बचे.खुचे हिन्दू परिवार पलायन करने की सोच रहे हैं। यही कारण है कि मेवात में पांच सौ गांवों में से एक तिहाई हिन्दू गायब हो चुके हैं। परिणामस्वरूप मौजूदा 80.85 गांवों में बमुश्किल 4.5 की संख्या में ही हिन्दू परिवार बचे हैं। पूर्व न्यायाधीश पवन कुमार वर्मा ने पूरे प्रकरण में प्रशासन के लचर रवैये को जिम्मदार ठहराया है। उपर से पुलिस की लापरवाही प्रयासों पर पानी फेर रही है। उनका कहना है कि मेवात में इस समय दलितों की स्थिति पाकिस्तान से भी बदतर है।

पवन कुमार के मुताबिक इस संबंध में सभी तथ्य जुटाने के बाद उन्होंने अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के अलावा गृह मंत्रालय और अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन को भी सौंप दी है। जिसका मकसद केवल और केवल दलित समाज को न्याय दिलाने और मेवात में कानून स्थापित करना है।

गौरतलब है कि वाल्मीकि महासभा द्वारा गठित चार सदस्यीय जांच टीम ने क्षेत्र का दौरा करने के बाद यह निष्कर्ष निकाला है कि दलितों पर अत्याचार प्रशासन और पुलिस की शह पर हो रहा है। आलम यह है कि न तो दलितों की शिकायतें ही दर्ज होती हैं और न ही उपद्रवियों के खिलाफ कोई कार्यवाही।

संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति के अध्यक्ष महावीर भारद्वाज के मुताबिक मेवात में दलितों की स्थिति बेहद नाजुक है। वहां पुलिस व स्थानीय प्रशासन स्थिति से निपटने में नकाम साबित हो रहा है। जिसके चलते छोटी.छोटी बच्चियां व महिलाएं यौन उत्पी?न का शिकार हो रहीं हैं। दुष्कर्म के बाद उनकी हत्या कर दी जाती है और पुलिस उपद्रवियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करती। इन घटनाओं के चलते परिवारों में भय का वातावरण है और बच्चियां स्कूल जाने से घबराती हैं।

विहिप ने भी जताया विरोध-

मेवात में दलित समाज के उत्पी?न के खिलाफ विश्व हिन्दू परिषद ने भी क?े शब्दों में भत्र्सना की है। विहिप के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष अलोक कुमार ने कहा कि मेवात में ब?े स्तर पर कनवर्जन की घटनाएं चिंता का विषय है। अखिल भारतीय वाल्मीकि महापंचायत के प्रदेश अध्यक्ष सुल्तान रत्नाकर ने बताया कि मेवात के बिछोरए उलेटाए घागसए पुन्हानाए नागिनांए लखनानाए आदि में उत्पी?न के साथ कनवर्जन व पलायन की घटनाएं विचलित करने वाली हैं।

मेवात में महंत रामदास पर जानलेवा हमला-

दलित बच्चियों के साथ यौन उत्पीड़न क अलावा साधु.संतों पर भी जानलेवा हमले किए जा रहे हैं। बीते दिनों हरियाणा के मेवात जिला स्थित पुन्हाना में मुक्तिधाम आश्रम के प्रमुख महंत रामदास महाराज के साथ मुस्लिम बहुल इलाके में उपद्रवियों ने उन पर जानलेवा हमला किया। पुलिस में शिकायत करने पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

Updated : 2020-06-05T14:55:22+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top