Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > खुद को ''चैंपियन ऑफ दलित राइट'' के रूप में प्रोजेक्ट कर रहे हैं राहुल-प्रियंका

खुद को ''चैंपियन ऑफ दलित राइट'' के रूप में प्रोजेक्ट कर रहे हैं राहुल-प्रियंका

खुद को चैंपियन ऑफ दलित राइट के रूप में प्रोजेक्ट कर रहे हैं राहुल-प्रियंका
X

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस और गांधी परिवार पर लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका स्वयं को ''चैंपियन ऑफ दलित राइट'' के रूप में प्रोजेक्ट कर रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा और महासचिव दुष्यंत गौतम ने मंगलवार को भाजपा मुख्यालय में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया।

पात्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के 28वें स्थापना दिवस पर विचार व्यक्त करते हुए कहा कि मानवाधिकार का बहुत ज्यादा हनन तब होता है जब उसे राजनीतिक रंग से देखा जाता है, राजनीतिक चश्मे से देखा जाता है, राजनीतिक नफा-नुकसान के तराजू से तौला जाता है। इस तरह का सलेक्टिव व्यवहार, लोकतंत्र के लिए भी उतना ही नुकसानदायक होता है।

पात्रा ने कहा कि सभी देख रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में किस प्रकार की राजनीति करने की कोशिश हो रही है। भाजपा ने बार-बार कहा है और मैं आज फिर कह रहा हूं कि लखीमपुर खीरी में जो हुआ है वो पूर्णतः दुःखद है और उस पूरे विषय की निष्पक्ष जांच चल रही है। किंतु दुःखद है कि जिस प्रकार की राजनीति कुछ राजनीतिक दल कर रहे हैं और वोट की खेती करने की कोशिश कर रहे हैं।

भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस नेताओं के लखीमपुर दौरे पर निशाना साधते हुए कहा कि खासतौर से प्रियंका और राहुल गांधी अपने आप को ''चैंपियन ऑफ दलित राइट'' के रूप में प्रोजेक्ट कर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस शासित राज्यों का उदाहरण देते हुए कहा कि राजस्थान के प्रेमपुरा गांव में कुछ दिन पहले एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। उसके बाद उसके मृत शरीर को उसके घर के सामने फेंक दिया गया। लेकिन राहुल गांधी, प्रियंका वाड्रा, अखिलेश यादव या बंगाल का कोई नेता वहां नहीं गए। राजस्थान का प्रशासन वहां दलितों के साथ हो रही घटनाओं पर कोई कार्यवाई नहीं करता, क्या राजस्थान के दलित का कोई मानवाधिकार नहीं है।

पात्रा ने कहा कि राजस्थान के हनुमानगढ़ के किसानों पर वहां के प्रशासन ने लाठी-डंडे बरसाए। राजस्थान में किसान, महिलाएं, दलित प्रदर्शन नहीं कर सकते और आप पूरे देश में जा-जाकर दलितों, किसानों, महिलाओं के ह्यूमन राइट्स के चैंपियन बनते हैं। भाजपा महासचिव दुष्यंत गौतम ने कहा कि जिस प्रकार से राजस्थान, झारखंड और अन्य राज्यों में घटनाएं हो रही हैं, लेकिन कुछ राजनीतिक दल इनका राजनीतिकरण कर रहे हैं। मरने वाली की जाति देखकर, मारने वाले का धर्म देखकर या राज्य में किसकी सरकार है ये देखकर राजनीति की जा रही है।

गौतम ने कहा कि कांग्रेस ने सबसे ज्यादा अपमान डॉ भीमराव अंबेडकर का किया। उनको भारत रत्न गैर-कांग्रेस सरकार आने के बाद मिल सका। भाजपा नेता ने कहा कि गांधी परिवार से जुड़े संग्रहालयों में उनके जीवन से जुड़ी वस्तुएं वर्षों से हैं, लेकिन डॉ अंबेडकर के जीवन से जुड़ी वस्तुओं को किसी संग्रहालय में सुरक्षित नहीं किया गया।

Updated : 2021-10-17T00:09:48+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top