Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > मप्र की जनता ने स्पष्ट किया गद्दार कौन : ज्योतिरादित्य सिंधिया

मप्र की जनता ने स्पष्ट किया गद्दार कौन : ज्योतिरादित्य सिंधिया

मप्र की जनता ने स्पष्ट किया गद्दार कौन : ज्योतिरादित्य सिंधिया
X

भोपाल। प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में शिव-ज्योति एक्सप्रेस चलती नजर आ रही है। अब तक आये नतीजों और रुझानों में भाजपा 16 सीटों पर जीत चुकी है और 03 पर आगे चल रही है। दूसरी ओर सभी सीटों का दावा करने वाली कांग्रेस पार्टी महज 09 सीटों पर सिमटती नजर आ रही है। अब तक कांग्रेस के खाते में 06 सीटें आ चुकी है और 03 पर बढ़त बनी हुई है।

उपचुनाव में शिव-ज्योति एक्सप्रेस के नाम से उतरी शिवराज- ज्योतिरादित्य की जोड़ी पर प्रदेश की जनता ने भरोसा जताते हुए सत्ता की चाबी सौंप दी है। भाजपा को मालवा -निमाड़ अंचल में एकतरफा जीत मिली है। इस क्षेत्र की 12 में से 10 सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है, यहां आगर -मालवा और ब्यावरा में कांग्रेस उम्मीदवार विपिन वानखेड़े और रामचंद्र दांगी जनता का विश्वास जीतने में सफल हुए है। वहीँ दूसरी और सिंधिया के प्रभाव वाले ग्वालियर-चबल संभाग में भी भाजपा को बढ़त मिली है। यहां 16 सीटों में से 9 सीटों पर भाजपा और 7 सीटों पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की है।

जनता ने स्पष्ट किया गद्दार कौन -

चुनाव परिणाम के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने मीडिया से चर्चा में कहा की जनता ने अपने मतों से स्पष्ट कर दिया की गद्दार कौन है। उन्होंने कहा की मैं भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता हूं। पार्टी के पक्ष में स्पष्ट जनादेश देने के लिए मैं राज्य के लोगों का आभारी हूं। वहीं उन्होंने कांग्रेस के 'गद्दार' वाले आरोप पर कहा कि नतीजों ने स्पष्ट कर दिया है कि गद्दार कौन हैं| सिंधिया ने कहा गद्दार कमलनाथ और दिग्विजय सिंह हैं, जिन्होंने भ्रष्टाचार का अड्डा बल्लभ भवन को बना दिया था। जनता ने भाजपा के पक्ष में और कांग्रेस के विरुद्ध स्पष्ट जनादेश दे दिया है, जिसे कांग्रेस अब भी स्वीकार नहीं कर रही है।

चुनाव बाद विधानसभा की स्थिति -

वही वर्तमान में मध्य प्रदेश विधानसभा का समीकरण देखें तो 230 विधानसभा सीटों में एक सीट रिक्त होने के कारण विधायकों की संख्या 229 है। जिसमें भाजपा के पास वर्तमान में 107 विधायक, कांग्रेस के पास 87, बसपा के पास 02, सपा 01 एवं निर्दलीय चार विधायक मौजूद है। अब तक प्राप्त रुझान और नतीजों के आधार पर भाजपा 127 विधायकों के साथ सदन में प्रवेश करेगी।वहीँ कांग्रेस के 95 विधायक होने की संभावना है। निर्दलीय एवं बसपा, सपा के 08 विधायकों का समर्थन प्राप्त होने से सदन में सत्ता रूढ़ भाजपा के पास 135 विधायकों का समर्थन रहेगा।



Updated : 2020-11-11T00:56:08+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top