Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > उपचुनाव : 28 सीटों पर उतरे 355 उम्मीदवार, 10 नवम्बर को होगा भाग्य का फैसला

उपचुनाव : 28 सीटों पर उतरे 355 उम्मीदवार, 10 नवम्बर को होगा भाग्य का फैसला

उपचुनाव : 28 सीटों पर उतरे 355 उम्मीदवार, 10 नवम्बर को होगा भाग्य का फैसला
X

भोपाल। प्रदेश में रिक्त 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियां प्रशासन एवं रजनितिक दलों द्वारा जोर-शोर से की जा रही है। कल सोमवार को नाम वापसी के आखिरी दिन 35 उम्मीदवारों ने अपने नामांकन वापस लिये हैं।इसके बाद अब चुनावी मैदान में 28 सीटों पर कुल 355 उम्मीदवार शेष बचे हैं, जो उपचुनाव में अपनी किस्मत आजमाएंगे। इनमें मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच होना। दोनों ही पार्टियों के लिए यह उपचुनाव महत्वपूर्ण है, क्योंकि इससे तय होगा कि प्रदेश में किसकी सरकार बनेगी।

जानकारी के अनुसार, परेश में होने वाले उपचुनाव के लिए 19 जिलों के 28 विधानसभा क्षेत्रों में आगामी तीन नवम्बर को मतदान होगा, जबकि मतों की गणना 10 नवम्बर को होगी और इसी दिन नतीजे घोषित किये जाएंगे। इन 28 सीटों के लिए नामांकन की प्रक्रिया नौ अक्टूबर को शुरू होकर 16 अक्टूबर तक चली थी। इस दौरान कुल 456 उम्मीदवारों ने 604 नाम निर्देशन-पत्र जमा किये थे। इसके बाद 17 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच हुई, जिसमें 67 उम्मीदवारों के नाम निर्देशन-पत्र निरस्त किये गये। वहीं, सोमवार को 35 उम्मीदवारों ने अपनी अभ्यर्थिता से नाम वापस ले लिये। अब उपचुनाव के मैदान में 355 उम्मीदवार बचे हैं।

सर्वाधिक उम्मीदवार मेहगांव और सबसे कम बदनावर -

इनमें मुरैना जिले की तीन सीटें जौरा, मुरैना और अम्बाह से 15-15 व सुमावली में 9, दिमनी में 13 उम्मीदवार मैदान में है। भिण्ड जिले की मेहगांव से 38, गोहद से 15, ग्वालियर जिले के विधानसभा क्षेत्र ग्वालियर से नौ, ग्वालियर पूर्व से 12 और डबरा से 14 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाएंगे। दतिया जिले के विधानसभा क्षेत्र भांडेर से 13, शिवपुरी जिले के विधानसभा क्षेत्र पोहरी और करेरा से 13-13, अशोकनगर जिले के विधानसभा क्षेत्र अशोकनगर से नौ, मुंगावली से 13, देवास के हाटपिपल्या से 11, बुरहान के नेपानगर से छह, अनूपपुर से 12, राजगढ़ जिले के ब्यावरा से आठ, सागर जिले के विधानसभा क्षेत्र सुरखी से 15, छतरपुर जिले के विधानसभा क्षेत्र मलहरा से 19, रायसेन जिले के विधानसभा क्षेत्र सॉची से 15 आगर-मालवा जिले के विधानसभा क्षेत्र आगर से आठ खण्डवा जिले के विधानसभा क्षेत्र मांधाता से आठ, धार जिले के विधानसभा क्षेत्र बदनावर से तीन, मंदसौर जिले के विधानसभा क्षेत्र सुवासरा से नौ, इंदौर जिले के विधानसभा क्षेत्र सांवेर से 13 उम्मीदवार मैदान में हैं।

सबसे अधिक 38 उम्मीदवार मेहगांव और सबसे कम तीन उम्मीदवार बदनावर विधानसभा क्षेत्र में हैं। बता दें कि राज्य की 28 में से 25 क्षेत्रों में उपचुनाव तत्कालीन विधायकों के त्यागपत्र देने और शेष तीन में तत्कालीन विधायकों के निधन के कारण हो रहे हैं। इन उपचुनावों से राज्य की सरकार का भविष्य तय होगा। मध्यप्रदेश की 230 सीटों वाली विधानसभा में फिलहाल भाजपा के 107, कांग्रेस के 28, बसपा के दो, समाजवादी पार्टी का एक और चार निर्दलीय विधायक हैं, जबकि बहुमत का आंकड़ा 116 है। इस जादुई आंकड़े को हासिल करने के लिए दोनों ही प्रमुख पार्टियां भाजपा और कांग्रेस जोर-आजमाइश कर रही है। राज्य में राजनीतिक घमासान मचा हुआ है और एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं।

Updated : 20 Oct 2020 12:27 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top