Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > मैंने कौन सा गुनाह किया, जो शिवराज सिंह मुझे पापी कहते हैं : कमलनाथ

मैंने कौन सा गुनाह किया, जो शिवराज सिंह मुझे पापी कहते हैं : कमलनाथ

मैंने कौन सा गुनाह किया, जो शिवराज सिंह मुझे पापी कहते हैं : कमलनाथ
X

राजगढ़। प्रदेश में उपचुनाव के लिए जारी प्रचार थमने में सिर्फ तीन दिन बचे है। इससे पहले दोनों दलों के नेता ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच पहुँचने और अपन संदेश पहुंचाने का प्रयास कर रहे है। इसी कड़ी में पूर्व सीएम कमलनाथ ने आज ब्यावरा में कांग्रेस प्रत्याशी रामचंद्र दांगी के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने भाजपा और सीएम शिवराज सिंह पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा हमने सत्ता में आते ही हजारों गौशालाओं को निर्माण कराया, सस्ती दर पर बिजली उपलब्ध कराई, पहले दौर में 27 लाख किसानों का कर्जा माफ किया तो इसमें मैंने कौन सा गुनाह किया, जो शिवराज सिंह मुझे पापी कहते हैं और झूठ पर झूठ बोलकर जनता को गुमराह करते हैं।

उन्होंने कहा की डॉ आंबेडकर ने संविधान निर्माण करते समय उपचुनाव का प्रावधान किया था। लेकिन उन्होंने इस प्रवधान को बनाते समय ये कभी नहीं सोचा होगा कि सौदे की राजनीति के चलते उपचुनाव कराना पडेंगे। उन्होंने कहा की साल 2018 में जनता ने कांग्रेस को चुना शिवराज सिंह को घर बैठा दिया, उस समय मुझे ऐसा प्रदेश मिला जो बेरोजगारी, किसानों की आत्महत्या, महिला अपराध और भ्रष्टाचारी में नंबर वन था। ऐसे में पहले ही दौर में 27 लाख किसानों का कर्जा माफ किया और दूसरी किश्त का समय आ रहा था, 100 रुपये में बिजली, हजारों गौशाला का निर्माण किया गया, फिर भी शिवराज सिंह पापी कहते हैं। शिवराज सिंह झूठ बोलने के अलावा कुछ नहीं करते हैं। उन्होंने हाल ही में घोषणा की है कि प्रदेश के लोगों को मुफ्त में कोविड वैक्सीन दी जाएगी, अरे भैया वैक्सीन बनी ही नहीं है तो कहां से मुफ्त में देंगे।

दोनों ने पाप किया-

सभा में उपस्थित आचार्य प्रमोद कृष्ण ने महाभारत के द्रोपदी चीर-हरण का प्रसंग ध्यान करते हुए कहा कि द्रोपदी का चीरहरण दुष्शासन ने दुर्याेधन के कहने पर किया, इसमें दोनों ने पाप किया, लेकिन पाप के भागीदार वह भी थे, जो खामोश होकर यह पाप देख रहे थे। उन्होंने कहा कि कमलनाथ एक सहज, सरल और सहृदय व्यक्ति हैं, उन्हें धोखा दिया गया है। मप्र.की सियासत का ऐसा इतिहास लिखा जाएगा, जिसमें एक पन्ना उपचुनाव का होगा और उस पर एक नाम कालीस्याही से महाराज का और स्वर्ण स्याही से कमलनाथ लिखा जाएगा।

मवेशी की तरह विधायक बेचने का काम हो रहा

इस मौके पर राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह मामा नहीं मामू हैं और वह झूठ बोलकर जनता को बरगलाने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि यह कैसा लोकतंत्र है, जहां मवेशी की तरह विधायक बेचने का काम हो रहा है। कार्यक्रम में कांग्रेस प्रत्याशी रामचंद्र दांगी ने कहा कि मैं दो बार कम अंतर से चुनाव हार चुका हूं, लेकिन हारने के बाद भी आपके सुख-दुख में आगे रहा हूं।

Updated : 2021-10-12T16:50:40+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top