Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पर लगाया आरोप, कहा - आपने प्रदेश को बर्बाद कर दिया

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पर लगाया आरोप, कहा - आपने प्रदेश को बर्बाद कर दिया

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पर लगाया आरोप, कहा - आपने प्रदेश को बर्बाद कर दिया
X

भिंड। प्रदेश में जारी विधानसभा उपचुनाव के लिये जारी प्रचार अभियान चरम पर है। इसी कड़ी में पूर्व सीएम कमलनाथ ने मेहगांव विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी हेमंत कटारे व मुरैना सीट से कांग्रेस प्रत्याशी राकेश मावई के समर्थन में जनसभाओं को संबोधित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा शिवराज जी सभाओं में कह रहे है की मैं अभी टेंपरेरी मुख्यमंत्री मुझे परमानेंट मुख्यमंत्री बनाओ। शिवराज जी जनता ने तो आपको पूरे 15 वर्ष परमानेंट मुख्यमंत्री बनाए रखा, आपने तो प्रदेश को बर्बाद कर दिया, विकास की दृष्टि से पीछे धकेल दिया।

अब जनता धोखा खाने वाली नहीं है -

पूर्व सीएम ने आगे कहा कि अब जनता धोखा खाने वाली नहीं है। जनता ने आपको 2018 में ही पहचान लिया था ,इस बार फिर आपको घर बैठना है लेकिन इस बार सच बोलना जरूर सीख लेना। उन्होंने कहा कि चंबल वीरों की भूमि है, मैं उसे नमन करता हूँ। यहां के लोग बड़ी संख्या में सेना में शामिल सीमा पर देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। यहां का खून गर्म है, वह लड़ सकता है लेकिन बिक नहीं सकता। यहां के पानी की तासीर में बगावत है लेकिन गद्दारी नहीं। जिसने चंबल से गद्दारी की, उसे चंबल कभी माफ नहीं करता।

मैं झूठ नहीं बोलता -

भाजपा ने सौदेबाजी कर प्रदेश को देश भर में कलंकित किया है, बदनाम किया है। ग्वालियर- चंबल के लोग और प्रदेश की जनता इस अपमान का व कलंक का बदला ज़रूर लेगी। हम चंबल घाटी के शहीदों की याद में भव्य शहीद स्मारक बनाएंगे। मैं मामा नहीं, मैं जेब में नारियल लेकर नहीं चलता, मैं झूठ नहीं बोलता, मैं घोषणा नहीं करता, मैंने कभी चाय नहीं बेची, मैं तो सिर्फ साधारण कमलनाथ हूँ। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा ने सौदेबाजी व बोली से सरकार बना कर प्रदेश को देश भर में कलंकित किया। भाजपा का तो लक्ष्य है कि पंचायत के भी चुनाव ना हो, बोली लगाकर सरपंच चुन लिया जाए। इन्होंने प्रजातंत्र को धनतंत्र में तब्दील कर दिय। यह उपचुनाव नहीं है, यह तो मध्य प्रदेश के किसानों, युवाओं के भविष्य का चुनाव है। यह थोपा गया उपचुनाव है। चुनाव प्रजातंत्र का उत्सव होता है लेकिन यह कैसा उत्सव ? यह तो सौदेबाजी का उत्सव है। कमलनाथ ने कहा कि 3 नवम्बर के बाद यह तंबू-टेंट-झंडे-पोस्टर नहीं रहेंगे लेकिन हमारा युवा नौजवान यही रहेगा, किसान भाई यही रहेगा और आपके साथ कमलनाथ भी रहेगा।

Updated : 24 Oct 2020 12:37 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top