Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > आयोग की मनाही के बाद भी सभाओंं में पहुंचे कमलनाथ

आयोग की मनाही के बाद भी सभाओंं में पहुंचे कमलनाथ

शिकायत लेकर पहुंची भाजपा ने कहा हो रहा है आदेश का उल्लंघन

आयोग की मनाही के बाद भी सभाओंं में पहुंचे कमलनाथ
X

भोपालl निर्वाचन आयोग ने भले ही बतौर स्टार प्रचारक कमलनाथ की सभाएं प्रतिबंधित कर दी है, लेकिन इसके बाद भी उनकी चुनावी सभाएं जारी है। शनिवार आगर मालवा और हाटपिपल्या की सभाओं को देखते हुए हरकत में आई भाजपा ने निर्वाचन आयोग से आयोग की अवमानना बताते हुए शिकायत दर्ज कराई है। इसके साथ ही सभा का खर्च प्रत्याशी के खाते में जोडऩे की मांग की है।

खास बात यह है कि इससे पहले ही निर्वाचन आयोग द्वारा लिये गए फैसले के खिलाफ कांग्रेस सुप्रीमकोर्ट का दरवाजा खटखटा चुकी है। राज्य सभा सांसद विवेक तन्खा द्वारा किये गए इस खुलासे के बाद राज्य सभा सांसद दिग्विजय ङ्क्षसह ने यह कहते हुए तीखी प्रतिक्रिया दर्ज कराई है, कि स्टार प्रचारक तय करने का अधिकार राजनैतिक दलों का है, इस विषय पर आयोग हस्तक्षेप नहीं कर सकता है। क्योंकि यह स्वयं आयोग के नियमों और कानून का उल्लंघन है। इसके जबाव में निर्वाचन आयोग पहुंचे भाजपा प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी ने कहा कि क्या निर्वाचन आयोग को अब दिग्विजय सिंह बताएंगे कि क्या सही है और क्या गलत है। इसके पहले भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा भी कांग्रेस पर निशाना साधते हुए निर्वाचन आयोग को यह कहते हुए सही ठहराने का प्रयास कर चुके हैं कि आपको एक संवैधानिक संस्था पर प्रश्न खड़ा करने का कोई अधिकारी नहीं है। देश में चुनाव आयोग द्वारा दलित अस्मिता और नारी सम्मान के लिए यह कदम उठाया गया है, देश में चुनाव आयोग निष्पक्ष संवैधानिक संस्था है।

आज भी गया था कल भी जाऊंगा

इधर कमलनाथ ने कहा है कि मैं आज भी सभा में गया था और कल भी जाऊंगा। चुनाव आयोग पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इंकार करते हुए उन्होंने स्पष्ट किया कि, न मैं स्टार प्रचारक हूं, न कोई कद है और न ही कोई पद है। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि आज शनिवार मैं हाटपिपल्या के दौरे पर जा रहा हूं। कल भी प्रचार के लिये जाऊंगा। मुझ पर प्रचार नहीं करने की किसी तरह की रोक नहीं लगी है। इस दौरान उन्होंने भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि अब प्रश्न उनके हारने का नहीं, बल्कि यह है कि वह सभी 28 सीटों पर कितने वोटों से हारते हैं। मुझे किसी भी स्टार प्रचारक के पद व कद की जरूरत नहीं। मुझे तो प्रदेश की जनता पर पूरा विश्वास है, मैं तो जनता से सड़क पर खड़े होकर भी अपनी बात बोल सकता हूँ।

शिवराज का तंज: वह सही बाकी सब गलत

उधर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा है कि कमलनाथ जी की नजरों में उनके शीर्ष नेता राहुल गांधी गलत हैं, सभी अधिकारी और कर्मचारी भी गलत हैं और अब तो चुनाव आयोग भी गलत है! कमलनाथ जी की नजरों में सभी लोग गलत हैं, यह उनकी हताशा और निराशा का प्रतीक है। उनको इस बात का दर्द है कि उनके हाथों से सत्ता चली गई है।

मोहन पर रोक, उषा से मांगा स्पष्टीकरण

भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बाद निर्वाचन आयोग ने पार्टी के दो अन्य नेताओं के खिलाफ भी कार्रवाई की है। शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में शामिल मोहन यादव पर राज्य में कैसे भी सार्वजनिक भाषण देने को लेकर एक दिन की रोक लगाई गई है। वहीं दूसरी ओर उषा ठाकुर को उनके कथित धर्म आधारित शिक्षा वाले बयान के लिए नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा गया है। आयोग ने यादव पर असहज भाषा का इस्तेमाल करने को लेकर यह कार्रवाई की है।

Updated : 2021-10-12T16:50:32+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top