Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > 335 संवेदन शील मतदान केन्द्रों पर रहेगी विशेष निगरानी -

335 संवेदन शील मतदान केन्द्रों पर रहेगी विशेष निगरानी -

10 कंपनियों सहित स्थानीय पुलिस बल मतदान केन्द्रों पर रहेगा तैनात

335 संवेदन शील मतदान केन्द्रों पर रहेगी विशेष निगरानी    -
X

ग्वालियर, न.सं.। स्वतंत्र एवं निष्पक्ष ढंग से मतदान सम्पन्न कराने के लिये तीनों विधानसभा क्षेत्रों में 100 मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा 88 स्थानों पर सीसीटीव्ही कैमरे लगाए गए हैं। साथ ही 49 माइक्रो ऑब्जर्वर भी विभिन्न मतदान केन्द्रों पर तैनात रहेंगे। मतदान पर निगरानी रखने के लिए 98 सेक्टर अधिकारी लगातार अपने-अपने क्षेत्र के मतदान केन्द्रों पर पहुंचेंगे। साथ ही सेक्टर पुलिस अधिकारी भी भ्रमण पर रहेंगे। केन्द्रीय सुरक्षा बलों की 10 कंपनियों सहित स्थानीय पुलिस बल मतदान केन्द्रों पर तैनात किया जाएगा। यह बात जिलाधीश कौशलेन्द्र विक्रम सिंह व पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने रविवार को आयोजित हुई पत्रकार वार्ता में कही।

जिलाधीश ने बताया कि उप चुनाव के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। मतदान दलों को 2 नवम्बर को एमएलबी महाविद्यालय से प्रात: 5 बजे से वीवीपैट एवं ईवीएम सहित सभी प्रकार की मतदान सामग्री वितरित की जाएगी। इसके बाद विशेष वाहनों से मतदान दलों को उनके मतदान केन्द्रों के लिए रवाना किया जाएगा। मतदान दलों को मतदान केन्द्रों तक पहुंचाने एवं मतदान के पश्चात वापस एमएलबी महाविद्यालय तक लाने के लिए 25 रिजर्व बसों सहित कुल 273 बसों का अधिग्रहण किया गया है। इसके अलावा सेक्टर अधिकारियों के लिए भी रिजर्व वाहनों सहित 110 वाहनों की व्यवस्था की गई है।

इन क्षेत्रों में यह रूट निर्धारित

जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों के सभी 1188 मतदान केन्द्रों तक मतदान दलों को पहुंचाने के लिए 248 रूट बनाए गए हैं। अपर जिला दण्डाधिकारी किशोर कान्याल ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र 15-ग्वालियर के अंतर्गत 94, विधानसभा क्षेत्र 16-ग्वालियर पूर्व में 84 एवं विधानसभा क्षेत्र 19-डबरा (अजा) में 70 रूट बनाए गए हैं।

मतदान केन्द्रों पर रहेंगी तीन लाइनें

मतदान केन्द्रों पर तीन लाइनें रहेंगी। इसमें एक महिला, एक पुरुष और एक दिव्यांग व बुजुर्ग के लिए रहेगी। इसके साथ ही व्हीआईपी के लिए अलग से कोई लाइन नहीं रहेगी। व्हीआईपी भी सामान्य मतदाता की तरह मतदान करेंगे।

सुबह लिया टोकन आखिरी घंटे में नहीं होगा मान्य

जिलाधीश ने स्पष्ट किया कि इस बार मतदान केन्द्रों पर टोकन व्यवस्था की गई है। लेकिन मतदाता द्वारा सुबह लिया गया टोकन आखिरी घंटे में मान्य नहीं होगा। क्योंकि मतदान का आखिरी घंटा कोरोना संक्रमितों के लिए होगा और शाम 5 बजे के बाद दोबारा टोकन जारी किए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि इस बार मतदान सुबह 7 बजे से सायंकाल 6 बजे तक होगा।

269 शिकायतों का हुआ निराकरण, 43 प्रथमितकी दर्ज

जिलाधीश ने बताया कि शिकायत सेल में तीनों विधानसभाओं से अभी तक विभिन्न माध्यमों कुल 278 शिकायतें प्राप्त हुईं थीं। जिसमें से 269 शिकायतों का निराकरण भी किया जा चुका है। जबकि कुल 43 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं।

एमएलबी महाविद्यालय का किया निरीक्षण

इधर जिलाधीश कौशलेन्द्र विक्रम सिंह रविवार की शाम को एमएलबी महाविद्यालय पहुंचे और निरीक्षण किया। मतदान सामग्री वितरित करने के लिए एमएलबी परिसर में विधानसभा क्षेत्रवार काउण्टर और मतदान दलों के सहयोग के लिये उदघोषणा कक्ष बनाए गए हैं। मतदान सामग्री वितरण व संकलन के लिए हर विधानसभा क्षेत्र के मान से दो प्रकार के काउण्टर बनाए गए हैं। एक काउण्टर पर ईवीएम, वीवीपैट एवं अन्य महत्वपूर्ण प्रपत्र वितरण का काम होगा। दूसरे काउण्टर से शेष सामग्री वितरित की जाएगी। इसके अलावा मतदान दलों को मतदान सामग्री की थैली के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं रहेगी उन्हें संबंधित विधानसभा क्षेत्र के काउण्टर के समीप निर्धारित किए गए स्थल पर ही वितरण में लगे कर्मचारी यह थैली प्रदान करेंगे। मतदान सम्पन्न होने के पश्चात मतदान सामग्री एमएलबी में ही जमा की जाएगी। यहीं पर विधानसभा क्षेत्रवार बनाए गए स्ट्रांग रूम में ई व्ही एम. कड़ी सुरक्षा के बीच सील्ड कर रखी जाएंगी।

थीम रोड़ पर आवागमन रहेगी प्रतिबंधित

महाविद्यालय के मैदान में जगह न होने के कारण इस बार बसों को महाविद्यालय के बाहर रखा जाएगा। इसके लिए यातायात व्यवस्था में दो नवम्बर को बदलाव किया गया है। इस दिन शीतला सहाय चौराहे से अचलेश्वर तक थीम रोड़ पर अवागमन प्रतिबंधित रहेगा। केवल मतदान दलों के परिवहन में लगाए गए वाहन ही इस रोड़ पर आ-जा सकेंगे। अपर जिला दण्डाधिकारी किशोर कान्याल ने बताया कि सभी मतदान दल रवाना होने के बाद थीम रोड़ को आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा। इसके बाद 3 नवम्बर को सायंकाल 6 बजे से थीम रोड़ पर फिर से आवागमन प्रतिबंधित किया जाएगा, जिससे मतदान दल सुगमता सेमहाविद्यालय पहुंचकर मतदान सामग्री जमा कर सकें।

कर्मचारीं यहां रखेंगे वाहन

इधर 2 दिसम्बर को शासकीय कर्मचारियों के लिए जीवायएमसी मैदान, सनातन धर्म मंदिर व चेम्बर ऑफ कॉमर्स में पार्किंग की व्यवस्था रहेगी। इसके अलावा एमएलबी महाविद्यालय की पार्किंग में भी कर्मचारी अपने दुपहिया वाहन खड़े कर सकेंगे।

Updated : 2021-10-12T16:46:36+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top