Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > मंत्री इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस

मंत्री इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस

मंत्री इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस
X

भोपाल/ग्वालियर। प्रदेश में जारी चुनावी संग्राम के बीच प्रचार में जुटे नेता एक -दूसरे पर आरोप -प्रत्यारोप लगाने के साथ विवादित बयान दे रहे है। बीते दिनों डबरा से भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी के खिलाफ कमलनाथ की टिप्पणी मामला बेहद गर्माया हुआ है। पूर्व सीएम की टिप्पणी के बाद मंत्री इमरती देवी ने भी पलटवार करते हुए उनकी माँ और बहन के लिए अशोभनीय टिप्पणी की थी। इमरती देवी की इस टिप्पणी पर कांग्रेस ने भाजपा पर दोहरे चरित्र का आरोप लगाया है और भाजपा नेताओं की शिकायत चुनाव आयोग से की है।

प्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने जारी अपने बयान में कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसी का भी नाम लेकर कोई टिप्पणी नहीं की, उसके बावजूद भी उन्होंने बड़प्पन दिखाते हुए खेद व्यक्त कर दिया, लेकिन भाजपा के मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने अनूपपुर के कांग्रेस प्रत्याशी की पत्नी को लेकर बेहद आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया। भाजपा की मंत्री इमरती देवी, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की दिवंगत माताजी और बहन को लेकर आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल कर रही हैं, अशोभनीय टिप्पणी कर रही हैं।

गिर्राज दंडोतिया के बयान पर जताई आपत्ति -

इसके अलावा मंत्री गिर्राज दंडोतिया खुलेआम गुंडागर्दी करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया की उपस्थिति में कमलनाथ की गर्दन काटने, उनका कत्ल करने और उनकी लाश बिछाने की धमकी दे रहे हैं। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के परिवार को लेकर व महिलाओं को लेकर आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल कर है और अशोभनीय टिप्पणी कर रहे हैं। वही इनके इंदौर के सांसद शंकर लालवानी, कमलनाथ को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहे हैं, उस पर शिवराज व भाजपा अभी तक मौन क्यों हैं? क्या उन्हें अब नारी जाति का सम्मान याद नहीं आ रहा है ? क्या उन्हें अब माफी माँगने की याद नहीं आ रही है ?

चुनाव आयोग से की शिकायत -

कांग्रेस ने मांग करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को, भाजपा को व सिंधिया को तत्काल अपने मंत्री बिसाहूलाल सिंह, गिर्राज दंडोतिया, नरेंद्र सिंह तोमर और इमरती देवी के बयानों को लेकर माफी मांगना चाहिए और तत्काल प्रायश्चित स्वरुप मौन व्रत पर बैठ जाना चाहिए, तभी यह स्पष्ट होगा कि वास्तव में वह नारी जाति के सम्मान के पक्षधर हैं और शब्दों की मर्यादा के भी पक्षधर है। उन्होंने बताया की आज कांग्रेस ने मंत्री इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया की चुनाव आयोग से शिकायत की है।




Updated : 23 Oct 2020 2:57 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top