Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > दिग्विजय, कमलनाथ संभावित हार से डर कर अधिकारी-कर्मचारियों को धमका रहे है :मुख़्यमंत्री

दिग्विजय, कमलनाथ संभावित हार से डर कर अधिकारी-कर्मचारियों को धमका रहे है :मुख़्यमंत्री

दिग्विजय, कमलनाथ संभावित हार से डर कर अधिकारी-कर्मचारियों को धमका रहे है :मुख़्यमंत्री
X

भोपाल। प्रदेश में रिक्त 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए चुनाव प्रचार अपने चरम पर पहुंच गया है। दोनों दलों के नेता अपने-अपने प्रत्याशियों को जीत दिलाने के लिए पुरजोर प्रयास करते दिख रहे है। चुनाव प्रचार में तेजी के साथ आरोप-प्रत्यारोपों का दौर भी तेज हो गया है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में रैली एवं सभाएं कर रहे है। वह सोशल मीडिया और सभाओं के जरिये कांग्रेस पार्टी और पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर निशाना साध रहे है। इसी कड़ी में आज सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्विटर के माध्यम से कांग्रेस नेता कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा की दोनों नेता अपनी संभावित हार से बौखला गए है, इसलिए अधिकारियों-कर्मचारियों को धमका रहे हैं। उन्होंने निर्वाचन आयोग से मामले को संज्ञान में लेकर कार्रवाई करने की अपील की है।मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा - "अपनी संभावित पराजय से बौखला कर कमलनाथ जी और दिग्विजय सिंह जी आजकल अधिकारियों और कर्मचारियों को धमका रहे हैं! देख लेंगे, निपट लेंगे, निपटा देंगे जैसे शब्दों का प्रयोग किया जा रहा है! माननीय चुनाव आयोग से अपील है कि वह स्वतः संज्ञान ले और धमकाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करे।"

उन्होंने कहा की आखिर सरकारी कर्मचारी-अधिकारियों का भी आत्मसम्मान है। उनका अपमान किया जा रहा है साथ ही उनके मनोबल को तोड़ने का प्रयास हो रहा है। ऐसे शब्दों का प्रयोग आदर्श अचार संहिता का उल्लंघन है , इसलिए निर्वाचन आयोग से अपील है की वह स्वयं इस मामले में संज्ञान ले और धमकाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करे।




Updated : 2021-10-12T16:51:04+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top