Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > देश में कांग्रेस इकलौती पार्टी, जिसने जनता के साथ गद्दारी की: राकेश सिंह -

देश में कांग्रेस इकलौती पार्टी, जिसने जनता के साथ गद्दारी की: राकेश सिंह -

थके-हारे कमलनाथ के दुस्साहस की पराकाष्ठा है वचन-पत्र

देश में कांग्रेस इकलौती पार्टी, जिसने जनता के साथ गद्दारी की: राकेश सिंह    -
X

ग्वालियर, न.सं.। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं लोकसभा में मुख्य सचेतक राकेश सिंह ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए प्रदेश की जनता के साथ वादाखिलाफी करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा उप-चुनावों के सिलसिले में जो वचनपत्र जारी किया गया हैं, यह थके-हारे कमलनाथ के दुस्साहस की पराकाष्ठा है, क्योंकि 2018 के विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस ने वचनपत्र जारी किया था उनमें एक भी वादा पूरा नहीं किया। देश में कांग्रेस ही एक मात्र पार्टी है जो जनता से किए गए वादे भी भूल जाती है। कमलनाथ को यह समझना चाहिए कि आयु की अधिकता के कारण उन्हें स्मृतिदोष हो सकता है, प्रदेश की जनता को नहीं। प्रदेश की जनता यह अच्छी तरह जानती है कि कमलनाथ एक ऐसे मुख्यमंत्री हुए, जिन्होंने प्रदेश की जनता को लिखित में धोखा दिया है। आने वाले उप चुनाव में प्रदेश की जनता का इसका मुंहतोड़ जवाब देगी। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री सिंह रविवार को पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा 2018 में वचन-पत्र पर जनता से जो वादे किए थे उसको क्यों पूरा नहीं किया गया? किसानों को डिफाल्टर किसने किया? युवाओं की उम्मीदों पर किसने पानी फेरा? छात्रों की मेधावी छात्रवृत्ति योजना क्यों बंद की गई? संबल योजना किसने बंद की? बेटियों की स्कूटी किसने छीनी? माफियाओं के नाम पर कमलनाथ ने भाजपा कार्यकर्ताओं का दमन किया, भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगातार झूठे मुकदमे दायर किए गए, कमलनाथ का दमनचक्र लगातार 15 महीने जारी रहा। कमलनाथ किस एकजुटता की बात कर रहे हैं, जबकि कमलनाथ ने मध्यप्रदेश में कांग्रेस को बर्बाद करने का काम किया है, क्योंकि वचन-पत्र से दिग्विजय सिंह का चित्र ही गायब कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में हजारों घर ग्वालियर-चंबल के गरीबों के लिए बनने थे इस योजना को रोक दिया गया? सहरिया जनजाति को एक हजार रुपए महीने मिलने वाली योजना को बंद कर दिया गया। जबकि सहरिया आदिवासी इस ग्वालियर-चंबल में सबसे अधिक निवास करते हैं, इसलिए प्रदेश में हो रहे उप-चुनावों में भाजपा 28 की 28 सीटें भारी मतों से विजयी होगी, क्योंकि प्रदेश की जनता ने कमलनाथ का दमनकारी शासन देखा है और शिवराज सिंह का पहले वाला कार्यकाल और अब छह महीने का कार्यकाल जनता ने देखा है। इस अवसर पर सांसद विवेक शेजवलकर, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर, जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी, वरिष्ठ नेता जयसिंह कुशवाह, प्रदेश सहमीडिया प्रभारी उदय अग्रवाल, वार्ताकार आशीष अग्रवाल, श्रीमती नीरू ज्ञानी, संभागीय मीडिया प्रभारी पवन कुमार सेन उपस्थित थे।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की जनता इस बात को कभी भूल नहीं सकती कि भारत के किसी राज्य के एक मात्र मुख्यमंत्री कमलनाथ हुए थे, जिन्होंने सीएए की आड़ में संविधान के विरोध में भोपाल की सड़कों पर खुलेआम रैली निकाली थी। क्योंकि जब कमलनाथ रैली निकाल रहे थे उससे पहले नागरिक संशोधन विधेयक पारित हो चुका था, जबकि कमलनाथ अच्छी तरह से जानते थे वे उसी संविधान की शपथ लेकर मुख्यमंत्री बने थे, जिसकी वे अवमानना कर रहे हैं।

Updated : 2021-10-12T16:51:52+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top