Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र उपचुनाव 2020 > कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए 18 प्रतिशत अतिरिक्त मतदान केन्द्र

कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए 18 प्रतिशत अतिरिक्त मतदान केन्द्र

कोरोना काल में खर्चीला साबित हो रहा उप चुनाव बना चुनौती?

कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए 18 प्रतिशत अतिरिक्त मतदान केन्द्र
X

भोपाल। कोरोना काल में प्रदेश की 28 सीटों पर होने जा रहे पहले उप चुनाव को लेकर चुनाव आयोग को अतिरिक्त तैयारियां करनी पड़ रही हैं। सामान्य चुनाव के मुकाबले जहां 18 प्रतिशत अतिरिक्त मतदान केंद्र बनाए गए हैं, वहीं दोगुने कर्मचारियों को भी चुनाव प्रक्रिया में लगाया जाएगा। कोरोना संक्रमण की वजह से चुनाव आयोग को करीब 30 करोड़ अतिरिक्त खर्च करने पड़ रहे हैं। सामान्य चुनावों में जहां 1 विधानसभा क्षेत्र में अधिकतम 75 लाख तक खर्च होता था, अब एक स्थान पर एक करोड़ से ज्यादा के खर्च का अनुमान है।

बढ़ गई मतदान केंद्रों की संख्या

पिछले विधानसभा चुनाव में 7983 मतदान केंद्र बनाए गए थे, लेकिन इस बार 28 विधानसभा सीटों पर होने जा रहे उपचुनाव में 7,261 मतदान केंद्र बनाए जा रहे हैं। जिन पर 58,000 मतदान कर्मियों को नियुक्त किया जाएगा, जबकि 50 प्रतिशत कर्मचारियों को आरक्षित (रिजर्व) में रखा जाएगा। सभी मतदान केंद्रों में दो अतिरिक्त कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। सामान्य चुनाव में एक मतदान केंद्र पर 4 कर्मचारी रहते थे, लेकिन इस बार मतदान केंद्र पर तापमान नापने के लिए एक कर्मचारी ही होगा।

उपचुनाव वाले जिलों में कोरोना

वायरस को लेकर चुनाव आयोग द्वारा लगातार रिपोर्ट ली जा रही है। चुनाव वाले जिलों में सबसे ज्यादा संक्रमण इंदौर में है।

ग्लब्ज पहनकर कर सकेंगे मतदान

मतदान के दौरान कोरोना से बचाव की तमाम प्रबंधों का ख्याल रखा जा रहा है। मतदान से एक दिन पहले सभी मतदान केंद्रों को सैनिटाइज किया जाएगा। माना जा रहा है कि चुनाव में करीब 13000 लीटर सैनिटाइजर की जरूरत पड़ेगी।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल के मुताबिक कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान को लेकर चुनाव आयोग ने बेहतर व्यवस्थाएं की हैं और लोगों को भी कोरोना से बचाओ को लेकर जागरूक किया जा रहा है। उम्मीद है लोग बढ़-चढक़र मतदान में हिस्सा लेंगे। 3 नवंबर को होगा मतदानमध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव की तारीखों का ऐलान पहले ही हो गया है। 3 नवंबर को मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होगा और 1 नवंबर को काउंटिंग होगी।

वोटिंग के दौरान रखनी होंगी ये सावधानियां?

  • मतदाता को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
  • मतदान केंद्र पर मास्क रखे जाएंगे।
  • स्याही लगाते समय मतदाता को मास्क उतारना होगा।
  • ईवीएम का बटन दबाने के लिए मतदाता को दाहिने हाथ का ग्लब्ज दिया जाएगा।
  • मतदान केंद्रों पर कर्मचारी-अधिकारियों को सामग्री के साथ सैनिटाइजर और फेस कवर दिया जाएगा।
  • तापमान नापने के लिए थर्मल स्कैनर भी होगा।
  • हर केंद्र में कम से कम 2 पीपीई किट रखी जाएंगी।
  • कोरोना संक्रमण की ली जा रही रिपोर्ट।


मतदान केंद्र पर क्या - क्या होंगे प्रबंध?

  • 68 लाख मतदाताओं के लिए 30 लाख से ज्यादा दस्ताने रखे जाएंगे।
  • हर मतदान केंद्र पर पैरा मेडिकल स्टाफ रहेगा।
  • मतदाता का तापमान ज्यादा मिलने पर आखिर
  • में वोट डाल सकेंगे।
  • ग्लब्ज पहन कर डाले जाएंगे वोट।
  • उपचुनाव में 7261 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे।
  • 58000 कर्मचारियों को ड्यूटी पर लगाया जाएगा
  • कर्मचारी-अधिकारियों के लिए फेस कवर दिया जाएगा।


उपचुनाव वाले जिलों में कोरोना मामलों की स्थिति

जिला सक्रिय मामले

इंदौर 3796

ग्वालियर 552

मुरैना 73

उज्जैन 175

भिंड 31

शिवपुरी 324

रायसेन 235

छतरपुर 183

अशोक नगर 59

आगर मालवा 21

धार 174

नीमच 174

सागर 413

मंदसौर 92

Updated : 2021-10-12T16:52:22+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top