Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मुरैना > समाज, जनप्रतिनिधि तथा अधिकारी साथ मिलकर संघर्ष करें, कोरोना की चैन अवश्यक टूटेगी : मुख्यमंत्री

समाज, जनप्रतिनिधि तथा अधिकारी साथ मिलकर संघर्ष करें, कोरोना की चैन अवश्यक टूटेगी : मुख्यमंत्री

लाॅकडाउन बढ़ाना कोई समाधान नहीं : नरेन्द्र सिंह तोमर

समाज, जनप्रतिनिधि तथा अधिकारी साथ मिलकर संघर्ष करें, कोरोना की चैन अवश्यक टूटेगी : मुख्यमंत्री
X

मुरैना। मुरैना दौरे पर आये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह (डिस्ट्रिक क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप) की बैठक ली। जिले में कोरोना की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने कलेक्टर को निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज में कोई कमी न रहे। सैम्पलिंग में वृद्धि की जाये और समय से पहले कोरोना संक्रमित की पहचान हो सके, जिससे संक्रमण से किसी मरीज की मृत्यु नहीं हो। कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिये जिन संसाधनों की भी जरूरत होगी, प्रदेश सरकार उनकी कमी नहीं आने देगी।

उन्होंने आगे कहा कि सभी के सहयोग से मुरैना कोरोना पर जीत हासिल करेगा। लेकिन कोरोना को हराने के लिये हमें सावधान रहकर दूसरों को भी जागरूक करना होगा। कोरोना के खिलाफ लड़ाई जनता के सहयोग से ही जीती जा सकती है। उन्होंने कहा कि खुशी की बात है कि मुरैना चंबल के निवासियों की प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) बहुत मजबूत है। यही वजह है कि यहाँ कोरोना मरीजों की मृत्यु दर अत्यंत कम है। उन्होंने कहा कि मुरैना में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण रहा है। मगर पिछले एक हफ्ते में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी है। प्रदेश सरकार इस स्थिति को लेकर पूरी तरह सजग है। इसी सिलसिले में आज मुरैना में समीक्षा बैठक रखी गई। उन्होंने बैठक में निर्देश दिए कि परिस्थितियों को ध्यान में रखकर रणनीति में भी बदलाव करें, जिससे कोरोना का फैलाव न होने पाए।

क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में मौजूद सदस्यों से मुख्यमंत्री ने आग्रह किया कि कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर लॉकडाउन के संबंध में निर्णय लें। उन्होंने कहा बाजार पर्याप्त समय तक खोले जा सकते हैं पर इस बात का ध्यान रखा जाए कि ग्राहक एवं दुकानदार मास्क लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यतः पालन हो।

केन्द्रीय पंचायत राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि लाॅकडाउन बढ़ाना कोई समाधान नहीं है। लाॅकडाउन की एक सीमा होती है, इसके बाद निराकरण ही करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि सभी सामाजिक संस्थाओं, जनप्रतिनिधियों का दायित्व है कि हम सब मिलकर लोंगो को पूरी तरह से जागरूक करें, तभी हम कोरोना की चैन को तोड़ पायेंगे। उन्होंने कहा कि वायरस के मामले में कोई भविष्यवाणाी नहीं की है कि यह कम होगा या ज्यादा हम सभी को इस संकट का सामाना करते हुये इसे रोकना होगा। इसके पीछे दुर्भावना नहीं होना चाहिये। इस अवसर पर केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश के मंत्री श्री ऐदल सिंह कंषाना, राज्यमंत्री श्री गिर्राज डण्डोतिया जिला स्तरीय क्रायसिस मैनेजेमेन्ट समिति के पदाधिकारी तथा मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Updated : 11 July 2020 3:28 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top