Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मुरैना > मुरैना : नगर में साफ-सफाई की कोताही बर्दास्त नहीं की जाएगी, सीधे होगी कार्रवाई

मुरैना : नगर में साफ-सफाई की कोताही बर्दास्त नहीं की जाएगी, सीधे होगी कार्रवाई

मुरैना : नगर में साफ-सफाई की कोताही बर्दास्त नहीं की जाएगी,  सीधे होगी कार्रवाई

मुरैना। मुरैना कलेक्टर प्रियंका दास ने अस्थाई हाॅस्पीटल (छात्रावासों) एवं निगम के अन्तर्गत गत दिवस भ्रमण किया। भ्रमण के दौरान कई स्थानों पर गन्दगी पाये जाने पर उन्होंने प्रभारी नगर निगम कमिश्नर सुश्री अंकिता धाकरे एवं सहायक आयुक्तों को विशेष साफ-सफाई कराने के निर्देश दिये। इस पर प्रभारी कमिश्नर ने विशेष साफ-सफाई पंचस्तरीय व्यवस्था लागू गई है। इस व्यवस्था के अन्तर्गत सहायक आयुक्त श्री रामनिवास शर्मा, शाबिर कौशर, श्री रामबाबू गुप्ता को नोडल अधिकारी बनाया है। इन तीनों नोडल अधिकारियों द्वारा प्रतिदिन की जा रही साफ-सफाई एवं सैनेटाइज कार्य का निरीक्षण किया तथा स्वास्थ्य अधिकारी अमरनाथ व्यास के साथ लगातार संपर्क में रहकर सफाई कार्य करवाया।

इस पंचस्तरीय व्यवस्था के अन्तर्गत निगम के लगभग प्रत्येक अधिकारी, कर्मचारी को अपने कर्तव्यों के साथ-साथ नगर की साफ-सफाई निरीक्षण के कार्य से जोड़ दिया गया है। इसके लिये 6 नये उप स्वास्थ्य अधिकारी भी बनाये गये है। जो निरंतर निरीक्षण कर साफ-सफाई करायेंगे। इस नवीन व्यवस्था के अनुसार अधिकारियों द्वारा प्रतिदिन की साफ-सफाई का निरीक्षण किया जावेगा। निरीक्षण के दौरान जिन क्षेत्रों में गन्दगी पाई जाती है, उस क्षेत्र की सफाई में लगे सभी कर्मचारियों केे विरूद्ध बिना नोटिस जारी किये एक पक्षीय कार्रवाही की जावेगी। इस प्रकार के निर्देश प्रभारी नगर निगम कमिश्नर ने दिये है।

पाॅजीटिव मरीज मिलने के बाद निगम के द्वारा तत्काल कराई जा रही है सेनेटाइजर की व्यवस्था

नगर निगम के अन्तर्गत विभिन्न वार्डो में प्रायः कोविड-19 मरीज मिल रहे है। इस पर प्रभारी नगर निगम कमिश्नर सुश्री अंकिता धाकरे ने फायर बिग्रेड संचालकों को अग्रिम निर्देश दे दिये है कि जिन वार्डो में कोविड-19 मरीज मिलते है, वहां तत्काल फायर बिग्रेड द्वारा सैनेटाइजर कराय जाये। जिससे कोविड-19 का वायरस जल्दी से जल्दी मर सके और उन स्थानों से अन्य लोंगो में वायरस का संक्रमण न फेल सके।

नगर निगम के एक कर्मचारी निलंबित और एक कर्मचारी का दो दिवस वेतन काटने के निर्देश

अस्थाई हाॅस्पीटल (छात्रावास) कस्तूरबा एवं ज्ञानोदय में साफ-सफाई नहीं मिलने के कारण कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने प्रभारी नगर निगम कमिश्नर के प्रति नाराजगी व्यक्त की है और कहा है कि साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जावे।

इस पर प्रभारी आयुक्त नगर निगम सुश्री अंकिता धाकरे द्वारा अस्थाई हाॅस्पीटलों के कक्षों में कर्मचारियों की ड्यूटी लगी है, उन कर्मचारियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाही की है। जिनमें प्रभारी स्वच्छता पर्यवेक्षक वार्ड-42 श्री रामनारायण को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। प्रभारी स्वच्छता निरीक्षक श्री हरेन्द्र सिकरवार का 2 दिवस का वेतन काटने के निर्देश दिये है और प्रतिदिन साफ-सफाई की निगरानी के लिये एक टीम का गठन किया है, यह टीम सहायक आयुक्त रामनिवास शर्मा के निर्देशन में स्टेनो रोहित सिंह तोमर, सहायक गेड-3 अनिल शाक्य और कम्प्यूटर आॅपरेटर तनुज शिवहरे की टीम गठित की है। यह टीम प्रतिदिन साफ-सफाई की निगरानी करेगी।

Updated : 5 July 2020 3:39 PM GMT
Tags:    

Amit Senger

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top