Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मुरैना > मुरैना को जल्द मिलेगा मेडिकल कॉलेज, सीएम शिवराज ने की घोषणा

मुरैना को जल्द मिलेगा मेडिकल कॉलेज, सीएम शिवराज ने की घोषणा

  • केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा मुरैना के विकास में नित नए अध्याय जुड़ रहे
  • मुख्यमंत्री विकासोन्मुखी सोच वाले सच्चे जनसेवक : ज्योतिरादित्य सिंधिया

मुरैना को जल्द मिलेगा मेडिकल कॉलेज, सीएम शिवराज ने की घोषणा

मुरैना। प्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनावों के लिए भाजपा ने तैयारी शुरू कर दी है। ग्वालियर-चंबल अंचल के चार दिनी दौरे पर आये मुख़्यमंत्री शिवराज सिंह आज मुरैना पहुंचे। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मुरैना पहुंचे। यहाँ तीनों नेताओं ने सुनियोजित विकास के लिये मंजूर हुए 268 करोड़ 59 लाख रूपए लागत के 27 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। जिसमें 184 करोड़ 60 लाख रूपए लागत के 8 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं लगभग 84 करोड़ रूपए लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन शामिल है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लगभग दो दर्जन हितग्राहियों को सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत सहायता भी वितरित की।

मुख्यमंत्री ने मुरैना को विकास की सौगातें देते हुए मेडिकल कॉलेज खोले जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा मुरैना जिले को बेहतर से बेहतर आधुनिक चिकित्सा सुविधायें उपलब्ध कराई जायेंगी साथ ही यहाँ जल्द एक मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा।शहर की पेयजल आपूर्ति के लिए 135 करोड़ रूपए की चंबल परियोजना को मूर्तरूप देने की घोषणा के साथ पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से शानदार सभागार का निर्माण एवं मुरैना जिले के रिठौरा में महाविद्यालय खोलने की घोषणा भी की।

केन्द्र व राज्य सरकार मिलकर विकास की नई इबारत लिखी है -



मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार मिलकर विकास की नई इबारत लिख रही हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पौने दो लाख हितग्राहियों को पक्के घरों में गृह प्रवेश कराया है। विकास की यह श्रृंखला जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्री तोमर की पहल पर चंबल क्षेत्र के चहुँमुखी विकास के लिये साढ़े 8 हजार करोड़ रूपए की चंबल अटल प्रोग्रेस-वे परियोजना को सैद्धांतिक मंजूरी मिल चुकी है। अटल प्रोग्रेस-वे केवल एक सड़क भर नहीं होगी, इसके दोनों ओर इंडस्ट्रीयल कोरीडोर स्थापित होगा। जिसके जरिए हजारों युवाओं को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा केन्द्रीय मंत्री तोमर के प्रयासों से ही भिण्ड व मुरैना जिले की सीमा पर सैनिक स्कूल खुलने जा रहा है।

उन्होंने आगे कहा गरीब की थाली कभी न रहे खाली इस उद्देश्य के साथ प्रदेश सरकार काम कर रही है। जिसके लिए 16 सितम्बर को महाभियान के माध्यम से शेष गरीब परिवारों को एक रूपए प्रतिकिलो की दर से राशन देने का कार्य शुरू होगा। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों से कहा कि जिले में ढूंढ-ढूंढकर सभी शेष पात्र परिवारों का पता करें, जिससे एक भी परिवार इस योजना से वंचित न रहे।

मुरैना के विकास में नित नए अध्याय जुड़ रहे : केंद्रीय मंत्री



केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार लोगों की समस्याओं के समाधान व प्रदेश के विकास के लिये पूरी ईमानदारी के साथ काम कर रही है। मुरैना जिले के सुनियोजित विकास में भी नित नए अध्याय जुड़ रहे हैं। उन्होंने खासतौर पर मुरैना शहर में आगरा-मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग पर फ्लाईओवर ब्रिज, मुरैना को नगर पालिका से नगर निगम बनाने, नवीन कलेक्ट्रेट व शहीद भवन का निर्माण, गाँव-गाँव में सड़कों का जाल, अटेर से लेकर श्योपुर मार्ग की राष्ट्रीय राजमार्ग में तब्दीली, मुरैना की पेयजल समस्या के समाधान के लिये अमृत योजना का जिक्र किया। केन्द्रीय मंत्री तोमर ने मुरैना में मेडीकल कॉलेज व अटल बिहारी वाजपेयी सभागार बनाने की मांग मुख्यमंत्री चौहान से की, जिसे मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सहर्ष स्वीकार कर लिया।

मुख्यमंत्री सच्चे जनसेवक : सिंधिया



वहीँ राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के पास संकट का समाधान करने के लिये बेहतर कार्यप्रणाली है तथा वे एक सच्चे जनसेवक तो हैं ही साथ ही विकासोन्मुखी सोच भी रखते हैं। इसी वजह से कि हम सबकी उम्मीदों के अनुरूप उन्होंने मुरैना के सीतापुर औद्योगिक क्षेत्र के विकास के लिये 101 करोड़ रूपए की सौगात दी है। इसी तरह पिपरसेवा में 55 करोड़ की योजना, नवीन कलेक्ट्रेट भवन, नूराबाद में 50 बिस्तरों का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और चंबल प्रोजेक्ट जैसी परियोजनाओं को उन्होंने मंजूरी दी है। उन्होंने आगे कहा ग्वालियर - चंबल संभाग ने कांग्रेस को सत्ता दी लेकिन कमलनाथ जी ने इसी क्षेत्र के साथ सबसे ज्यादा भेदभाव किया।यहां के विधायकों से मिलने के लिये मुख्यमंत्री के पास समय तक नहीं था। आज इन्हें नैतिकता याद आ रही है।


Updated : 2020-09-12T19:46:07+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top