Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > अप्रैल माह में पश्चिम मध्य रेलवे ने किया 226 लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों का संचालन

अप्रैल माह में पश्चिम मध्य रेलवे ने किया 226 लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों का संचालन

अप्रैल माह में पश्चिम मध्य रेलवे ने किया 226 लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों का संचालन
X

जबलपुर। भारतीय रेलवे पर वर्ष 2015-16 में पश्चिम मध्य रेल द्वारा सर्व प्रथम लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों के संचालन की शुरूआत हुई। भारतीय रेल पर मालगाड़ियों की औसत गति में वृद्धि होने से माल यातायात में उत्तरोत्तर बढ़ोत्तरी हुई। इसके साथ ही पश्चिम मध्य रेल पर मालगाड़ियों की औसत गति भारतीय रेलवे में अव्वल रही है। गौरतलब है कि पमरे में मालगाड़ियों के सुगम संचालन निष्पादित होने से माल का परिवहन ज्यादा से ज्यादा अतिशीघ्र हो रहा है, जिसमें पमरे द्वारा अधिक से अधिक मालगाड़ियों का परिवहन शामिल हैं। इसी श्रृंखला में पश्चिम मध्य रेल के द्वारा प्रमुख रेलखण्डों पर लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों का संचालन को गति प्रदान किया गया है।

पश्चिम मध्य रेल द्वारा पिछले कुछ वर्षों में मालगाड़ियों के ज्यादा से ज्यादा संचालन के लिए रेल पटरियों एवं आधारभूत संरचनाओं का विकास में गति प्रदान की गई।

  • पमरे में इलेक्ट्रिफिकेशन का 100 प्रतिशत कार्य पूर्ण।
  • तीनों मण्डलों के मुख्य रेलखण्डों पर मालगाड़ियों की अधिकतम गति सीमा बढ़ाई गई।
  • प्रमुख रेलखण्डों में दोहरीकरण/तिहरीकरण का कार्य पूर्ण किया गया। लॉन्ग हॉल

उल्लेखनीय है कि लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों में 58-58 वैगनों की दो मालगाड़ियों को एक साथ मिलाकर 116 वैगनों की पूरी मालगाड़ी बनाई जाती है, जिससे दो मालगाड़ियों के पाथ के बजाय एक गाड़ी के पाथ में ही संचालन किया जा सकता है। माह अप्रैल 2022 में पमरे द्वारा 226 लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों का संचालन किया गया। पिछले वर्ष माह अप्रैल 2021 में 134 लॉन्ग हॉल मालगाड़ियों का संचालन किया गया। जो की 68 प्रतिशत से अधिक लॉन्ग हॉल का संचालन किया गया।

क्रेक ट्रेन

यह वह मालगाडियां है जो की तेज गति से चलकर अगले ड्राइवर चेंजिंग स्टेशन (क्रू चेंज स्टेशन) पर समय से पहले पहुँचकर आगे चल देती है और उसके अगले क्रू चेंज स्टेशन पर ड्राइवर चेंज होता है। अर्थात दो क्रू बिट्स एक ही क्रू से पूर्ण किया जाता है। उदाहरण के तौर पर इसे ऐसे भी समझ सकते है कि यदि कोई क्रू स्टाफ क्रेक ट्रेन को सागर से लेकर कोटा की ओर जाता है तो वह क्रू गुना में चेंज नहीं होगा और सीधे कोटा तक जाएगा। माह अप्रैल 2022 में पमरे द्वारा 2055 क्रेक ट्रेनों का संचालन किया गया। पिछले वर्ष माह अप्रैल 2021 में 1927 क्रेक ट्रेनों का संचालन किया गया। जो की 07 प्रतिशत अधिक क्रेक ट्रेनों का संचालन किया गया।

पमरे द्वारा लॉन्ग हॉल एवं क्रेक मालगाड़ियों के संचालन में रेलवे को कई फायदे हुए हैं।

  • तेज गति से एक ही समय में ज्यादा से ज्यादा माल यातायात का परिवहन किया जा सकता है।
  • अधिक से अधिक रेल गाड़ियों के संचालन के लिए पाथ मिल जाता है।
  • क्रू स्टॉफ से अधिक से अधिक मालगाड़ियों का संचालन निष्पादित किया जा सकता है।
  • रेलवे के आय में बढ़ोत्तरी के साथ रेल राजस्व भी बढ़ेगा।
  • क्रू स्टाफ की बचत और खण्ड की क्षमता में वृद्धि होगी।
  • पश्चिम मध्य रेल द्वारा माल यातायात के परिवहन के लिए ज्यादा से ज्यादा लॉन्ग हॉल एवं क्रेक मालगाड़ियों के संचालन निष्पादित करने के लिए आगे भी अग्रणी रहेगा।

Updated : 27 May 2022 1:00 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top