Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > मप्र के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात, बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त

मप्र के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात, बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त

मप्र के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात, बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त
X

भोपाल। मध्य प्रदेश में मानसून ने रफ्तार पकड़ ली और लगातार बारिश हो रही है। बीते दो दिनों में हुई बारिश से जहां मौसम खुशनुमा हो गया है तो कई जिलों में मूसलाधार बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बुधवार को सुबह से ही प्रदेश भर में आसमान पर छाए बादलों के साथ जारी बौछारें गर्मी से राहत देने वाली रहीं।

बीते चौबीस घंटों में हुई तेज बारिश से कई जिलों में जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है| नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। शहर के कई इलाकों में जलभराव की स्थिति पनपने लगी हैं। भारी बारिश के चलते भोपाल से सागर, विदिशा से रायसेन, खुरई से सागर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद कर दिए गए हैं। मंगलवार रात से हो रही भारी बारिश के चलते कनेक्टिविटी भी पूरी तरह बंद है। होशंगाबाद, छिंदवाड़ा, बैतूल, सागर, विदिशा, रायसेन, रतलाम, दमोह, उज्जैन और दमोह जिलों में बाढ़ के हालात हैं। हवाओं की गति 18 किमी.घंटा बनी हुई है।

मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इसके साथ ही प्रदेशभर में 20 किमी की गति से तेज की हवा चलने का अनुमान है। मौसम विभाग ने बताया कि प्रदेश के भोपाल, सीहोर, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, होशंगाबाद, हरदा, बैतूल, बालाघाट, मंडला, सिवनी, अनूपपुर, डिंडोरी, सागर, दमोह, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, आगर, शाजापुर, देवास एवं खंडवा में अगले 48 घंटे में भारी वर्षा की संभावना है।

बीते दिनों में एक जून से मंगलवार, 17 जुलाई तक 19 जिलों में सामान्य से 20 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई है। प्रदेश के 16 जिलों में सामान्य वर्षा दर्ज हुई है। कम वर्षा वाले जिलों की संख्या 16 है। बीते 24 घंटों के दौरान सबसे ज्यादा बारिश दमोह 196, होशंगाबाद 77, भोपाल 65, सागर 66, रायसेन 32 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग ने अगले 24 में 21 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

Updated : 2018-07-18T19:59:38+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top