Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > लॉकडाउन के बाद भी खुला मुरैना, सख्ती से नहीं हो रहा नियमों का पालन

लॉकडाउन के बाद भी खुला मुरैना, सख्ती से नहीं हो रहा नियमों का पालन

लॉकडाउन के बाद भी खुला मुरैना, सख्ती से नहीं हो रहा नियमों का पालन

मुरैना। कोरोना वायरस के चलते देश ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों ने अपने यहां लोगों की आवाजाही और घरों से बाहर निकलने पर पाबंदी लगा रखी है, लेकिन मुरैना जिला में जनता कर्फ्यू के अगले दिन सोमवार को आम दिन की तरह धीरे-धीरे सभी काम शुरू हो गए, जबकि प्रशासन ने आदेश दिए है कि 31 मार्च तक सभी चीजे बंद रहेंगी। लेकिन जरुरत की दुकान खुली रहेंगी।

हम आपको बता दें कि सामान्य दिन की तरह मुरैना जिले में बड़ोखर पर रेत की अवैध मंडी तक खुल गई। यही नहीं रोड पर रेत के अवैध ट्रैक्टर दौड़ रहे थे। वहीं बड़ोखर माता की और से रेलवे स्टेशन की तरफ 100 डायल निकल गई, और रेत से भरे ट्रेक्टर और ट्रॉली जिस जगह खड़े होते है। वह उस जगह मौजूद रहते है अब इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि नियमों का किस तरह उल्ल्घंन किया जा रहा है। जबकि केन्द्र सरकार और राज्य सरकारों ने वहां लॉकडाउन का ऐलान किया है। इसके बाद भी कई जगह देखने को मिल रहा है कि लोग घरों से निकल रहे हैं। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नाराजगी व्यक्त की है। पीएम मोदी ने सोमवार को ट्वीट करके कहा है कि लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।

क्या होता है लॉकडाउन?

लॉकडाउन एक इमर्जेंसी व्यवस्था होती है। अगर किसी क्षेत्र में लॉकडाउन हो जाता है तो उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है। जीवन के लिए आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति होती है। अगर किसी को दवा या अनाज की जरूरत है तो बाहर जा सकता है या फिर अस्पताल और बैंक के काम के लिए अनुमति मिल सकती है। छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल के काम से भी बाहर निकलने की अनुमति मिल सती है।


Updated : 23 March 2020 5:54 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top