Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > जबलपुर ऑर्डनेंस फैक्ट्री में लगी भीषण आग, 6 कर्मचारी झुलसे

जबलपुर ऑर्डनेंस फैक्ट्री में लगी भीषण आग, 6 कर्मचारी झुलसे

जबलपुर ऑर्डनेंस फैक्ट्री में लगी भीषण आग, 6 कर्मचारी झुलसे
X

जबलपुर। जिले के खमरिया में स्थित भारतीय सेना के लिए आयुद्ध निर्माण करने वाली केंद्रीय सुरक्षा संस्थान ऑर्डनेंस फैक्ट्री में गुरुवार दोपहर अचानक फीलिंग सेक्शन में आग लग गई। आग इतनी भीषण थी कि पूरी बिल्डिंग जलकर खाक हो गई। इस हादसे में वहां काम कर रहे छह कर्मचारी झुलस गए हैं। सूचना मिलने पर दमकल की गाड़ियां मौके पर आग बुझाने के साथ राहत एवं बचाव कार्य में लगी हैं।

जानकारी के अनुसार गुरुवार को दोपहर में खमरिया ऑर्डनेंस फैक्ट्री के एफ-6 सेक्शन की बिल्डिंग नंबर 637 में एल्यूमिनियम पाउडर भरने का काम हो रहा था। इसी दौरान अचानक बिल्डिंग में आग लग गई। देखते ही देखते आग तेजी से भड़की और पूरी बिल्डिंग को अपनी चपेट में ले लिया। आग देखकर फैक्ट्री में अफरा-तफरी मच गई। इस आगजनी में छह मजदूर बुरी तरह झुलस गए। घायलों को इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। जानकारी मिलते ही फैक्ट्री में मौजूद दमकल के साथ ही नगर निगम की फायर ब्रिगेड भी मौके पर पहुंच गईं।

मामले में कर्मचारी यूनियन ने निर्माणी प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाया है और आपराधिक मामला दर्ज करवाने की मांग की है। कर्मचारी नेता अरुण दुबे ने बताया कि दोपहर लगभग 2 बजे फिलिंग सेक्शन क्रमांक 6 की बिल्डिंग नम्बर 637 में डेंटिस्क मैल्टर मशीन में पड़े एलुमिनियम पाउडर में आग लगने से 6 कर्मचारी झुलस गये, जिनके नाम क्रमशः श्याम देव, करण आर्य, नंद किशोर सोनी, विजय, कालू राम मीणा, अंकित है। घायलों को तत्काल शहर के एक निजी अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं गंभीर रूप से झुलसे नंद किशोर सोनी नामक कर्मी को महाकोशल हास्पिटल में भर्ती कराया गया है।

हादसे को लेकर कर्मचारी यूनियन इंटक ने खमरिया निर्माणी प्रबंधन को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने दुर्घटना पर अपराधिक प्रकरण दर्ज करवाने की मांग करते हुए कहा है कि निर्माणी में सुरक्षा नियमों की सरेआम अवहेलना की जा रही है। प्लांट के लिए कागजों में नई मशीनरी खरीदी गई है, वहीं कर्मचारियों से पुरानी मशीनों में काम करवाया जाता है।

घायल करण आर्या ने बताया कि वह दोपहर में साथियों के साथ काम कर रहा था। कुछ साथी बिल्डिंग के भीतर थे। अचानक भीतर से धुआं निकलते देखा। जब तक कुछ समझ पाता, आग भड़क गई। सभी लोग यहां-वहां भागने लगे। दो साथी तो जलते हुए बाहर भागे। कर्मचारियों के मुताबिक फैक्ट्री के जिस फिलिंग-6 सेक्शन में आग लगी थी, उस सेक्शन में मेल्टर मशीन से बारूद को मिक्स करने के बाद पिघलाने का काम किया जाता है। पिघले हुए बारूद को ट्रे में रखते समय बारूद में आग लगने से हादसा हुआ है।

Updated : 29 Sep 2022 2:07 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top