Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > ग्वालियर-चंबल अंचल सहित प्रदेश में तेज बारिश, श्योपुर में नदियां खतरे के निशान से ऊपर

ग्वालियर-चंबल अंचल सहित प्रदेश में तेज बारिश, श्योपुर में नदियां खतरे के निशान से ऊपर

ग्वालियर-चंबल अंचल सहित प्रदेश में तेज बारिश, श्योपुर में नदियां खतरे के निशान से ऊपर
X

भोपाल/श्योपुर। प्रदेश में पिछले तीन-चार दिन से लगातार बारिश हो रही है। राज्य के कुछ जिलों में तेज बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कुछ जगहों पर बाढ़ जैसे हालात बन गए है। श्योपुर में पार्वती, कूनो, क्वारी और सीप नदी उफान पर हैं और नदियों के पुलों के ऊपर से पानी बह रहा है। इसकी वजह से श्योपुर का राजस्थान से संपर्क पूरी तरह कट चुका है। विजयपुर में बाढ़ का पानी घुसने से कोठारी पैलेस और आसपास के घरों में 30 लोग फंस गए। उन्हें रेस्क्यू करके दो घंटे बाद निकाला गया।

राजधानी भोपाल में रविवार को रातभर जोरदार बारिश हुई और सोमवार को भी सुबह से ही रिमझिम बारिश का दौर जारी है। यही हाल प्रदेश के अन्य नगरों और जिलों का है। चम्बल क्षेत्र में बीते तीन दिनों से तेज बारिश हो रही है, जिससे नदियां उफान पर हैं। श्योपुर जिले में बाढ़ के हालात हैं। यहां के विजयपुर नगर में क्वारी नदी ने रौद्र रूप धारण कर लिया है और श्योपुर में कूनो नदी का पानी पुल से 10-15 फीट ऊपर से बह रहा है।

बारिश का पानी घरों में घुसा -

श्योपुर जिले में बारिश का पानी लोगों के घरों में घुस गया है। क्वारी नदी से सटे सायपुरा, पीपलबाड़ी, अर्रोद क्षेत्र में भी प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। यहां पर भी पानी का खतरा मंडरा रहा है। विजयपुर एसडीएम नीरज कुमार शर्मा ने बताया कि अलर्ट जारी करने के साथ ही गांवों में मुनादी भी करवाई जा रही है। जिले के कई गावों में बाढ़ की स्थिति है। बाढ़ की वजह से काफी नुकसान भी हुआ है।

गुना में 150 गांव का संपर्क टूटा -

वहीं, गुना जिले में 24 घंटों में 106 मिमी बारिश दर्ज की गई है। बमोरी इलाके में पार्वती, सिंध और कूनो नदी उफान पर हैं। लगभग 150 गांव का संपर्क शहर और कस्बों से कट गया है। ढीमरपुरा के रास्ते में नदी उफान पर होने से प्रशासनिक मदद नहीं पहुंच पाई है। विशनवाड़ा क्षेत्र का संपर्क भी टूट गया है। इस इलाके में 8 गांव के लोग घरों में कैद हो गए हैं। राजस्थान जाने का रास्ता बंद हो गया है। वहीं, शहर से 12 किमी दूर नयागांव में रविवार रात कच्चे मकान की दीवार गिर गई। इसमें दबकर गोपाल लोधा के साढ़े तीन वर्षीय बेटे नक्श की मौत हो गई।

बाढ़ के पानी में बच्चा डूबा -

भिंड जिले में बारिश की वजह सिंध नदी उफान पर है। लहालौरी गांव के किनारे सिंध नदी के ऊपरी बीहड़ में बने बांध में बारिश का पानी भर गया। बांध में गांव के कुछ बालक रविवार शाम को नहाने के लिए गए थे। इसमें पांच वर्षीय रोहित गहरे पानी में चला गया और डूबने से उसकी मौत हो गई। सोमवार को सुबह उसका शव बरामद हुआ। इधर छतरपुर जिले में भी लगातार बारिश हो रही है। चंदला के ग्राम पंचायत बंजारी और भगौरा में पानी भर जाने की वजह से स्थिति खराब हो गई है। दोनों गांवों का संपर्क जिला मुख्यालय से कट गया है। बंजारी में बने शासकीय हाई स्कूल परिसर में पानी भर गया। चंदला को जोड़ने वाले मार्ग पर 2 मीटर पानी भर गया है।

Updated : 2 Aug 2021 11:17 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top