Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > ऑक्सीजन की कमी बनी काल, शहडोल मेडिकल कॉलेज में 22 मरीजों की मौत

ऑक्सीजन की कमी बनी काल, शहडोल मेडिकल कॉलेज में 22 मरीजों की मौत

ऑक्सीजन की कमी बनी काल, शहडोल मेडिकल कॉलेज में 22 मरीजों की मौत
X

शहडोल। प्रदेश में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ मरीजों की मौत का आंकड़ा भी बढ़ने लगा है शहडोल मेडिकल कॉलेज के आईसीयू में भर्ती 24 मरीजों में से 22 मऱीजों की एक ही दिन में मौत हो गई। इनमें से 12 के लिए ऑक्सीजन की कमी कोरोना मरीजों के लिए जानलेवा साबित हुई ।ऑक्सीजन का प्रेशर कम होते ही मरीज तड़पने लगे। इसके बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया।

शहडोल मेडिकल कॉलेज के आईसीयू में शनिवार रात करीब 12 बजे ऑक्सीजन का प्रेशर कम हो गया। पर्याप्त ऑक्सीजन न मिलने से मरीजों की तकलीफ बढ़ गई और स्टाफ में ऑक्सीजन सिलेंडरों की व्यवस्था के लिए अफरातफरी मच गई। मेडिकल प्रबंधन ऑक्सीजन की सप्लाई का प्रेशर बनाने के लिए सिलेंडरों की व्यवस्था में जुट गया। प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। लेकिन सुबह 6 बजे तक एक के बाद एक 12 गंभीर मरीजों की मौत हो गई।

ऑक्सीजन की कमीं के बाद कई मरीजों को ऑक्सीजन मास्क हाथ से दबाना पड़ा। मरीजों को लग रहा था कि शायद सही तरह से दबाने से ऑक्सीजन आ जाए। मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. मिलिंद शिरालकर ने भी ऑक्सीजन की कमी से हुई इन मौतों की पुष्टि की है।उल्लेखनीय है कि 15 अप्रैल को भी आक्सीजन की कमी के चलते जबलपुर में पांच मरीजों की मौत हुई थी।

Updated : 2021-04-18T19:58:41+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top