Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > बाड़े में छोड़ने के बाद एक घंटे डरे-सहमे रहे चीते, 3 घंटे बाद पिया पानी

बाड़े में छोड़ने के बाद एक घंटे डरे-सहमे रहे चीते, 3 घंटे बाद पिया पानी

बाड़े में छोड़ने के बाद एक घंटे डरे-सहमे रहे चीते, 3 घंटे बाद पिया पानी
X

श्योपुर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शनिवार को अपने जन्मदिन के मौके पर मध्य प्रदेश को बड़ी सौगात देते हुए नामीबिया से लाए गए आठ चीतों को कूनो राष्ट्रीय उद्यान में छोड़ा। यहां चीतों को तीन बाड़ों में रखा गया है। बाड़े में आने के बाद एक घंटे तक चीते डरे-सहमे पेड़ के नीचे बैठे रहे, लेकिन इसके बाद धीरे-धीरे सामान्य होने लगे और तीन घंटे बाद उन्होंने बाड़े में बने हौद में पानी पिया। इससे उनमें कुछ फुर्ती आई और इसके बाद वे इधर-उधर छलांग लगाते देखे गए। बाड़े में छोड़े जाने चार घंटे बाद उन्हें खाना (भैंसे का मीट) दिया गया। साढ़े चार घंटे में नामीबिया से चीतों को लेकर आई विशेषज्ञों की टीम ने तीन बार उनका चेकअप भी किया।

बताया गया है कि नामीबिया से भारत लाने के दौरान चीतों को खाली पेट रखा गया था। करीब 12 घंटे के सफर के बाद बोइंग 747 विमान से चीते ग्वालियर एयरपोर्ट पर पहुंचे थे और यहां से हेलीकाप्टर के माध्यम से उन्हें कूनों लाया गया था, जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें बाड़ों में छोड़ा था। बाड़े में जाने के बाद चीता करीब घंटे तक डरे-सहमे दिखाई दिए। धूप होने के कारण वह एक पेड़ की छांव में बैठ रहे। उन्हें पूर्वान्ह 11.15 बजे बाड़े में छोड़ा गया था और दोपहर करीब ढाई बजे के आसपास वे सामान्य नजर आए और उन्होंने बाड़े में बने हौद में पानी दिया। इसके बाद टीम ने चीतों का चेकअप किया और उन्हें करीब 3.45 बजे भैंसें का मांस दिया गया।

कूनो राष्ट्रीय के डीएफओ पीके वर्मा ने बताया कि बाड़े में छोड़ने के एक घंटे बाद ही चीते सामान्य महसूस हुए। उन्होंने यहां हौद में पानी भी पिया और खाना भी खाया। हालांकि, उन्होंने खुराक से कम खाना खाया है, लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि सफर में थकान के कारण अभी कम खाना खाया है। तीन-चार दिन में चीते पहले की तरह खुराक लेंगे।

Updated : 17 Sep 2022 1:57 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top