Latest News
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > अन्न महोत्सव : हजारों टन अन्न से नवाजा जरूरतमंदों को, चेहरे खिले

अन्न महोत्सव : हजारों टन अन्न से नवाजा जरूरतमंदों को, चेहरे खिले

अन्न महोत्सव : हजारों टन अन्न से नवाजा जरूरतमंदों को, चेहरे खिले
X


राजगढ़/श्याम चोरसिया। समूचे देश मि तरह मप्र की 25 हजार 04 सो पैतीस उचित मूल्य दुकानों से एक ही दिन में लाखो जरूरतमंदों को हजारो टन अन्न से नवाजा।अनं वितरण समारोहपूर्वक हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी/एनडीए सरकार की जन कल्याण की सर्व जन हिताय विभिन्न योजनाओं से किसानों,महिलाओं,निराश्रितों,कल्याणी महिलाओं, बालिकाओं, गर्भवतियों,मजदूरों, आर्थिक रूप से कमजोरों, प्रतिभा शाली विद्यर्थियों, खिलाड़ियों को मिल रहे लाभों का विस्तार से जिक्र किया। प्रधानमंत्री सैनिकों, सुरक्षा बलों के भारत निर्माण में दिए जा रहे योगदान का भी उल्लेख किया।


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहाकि प्रतिकूलताओं के बाबजूद प्रदेश सरकार हर वर्ग के कल्याण और आनंद के लिए प्रतिबध्द है। उसी कड़ी में इतिहास में पहली बार किसी सरकार ने अपने जन को मुफ्त अन्न से नवाजने का साहस दिखाया।ताकि जरूरतमंद का भरोसा ओर मनोबल टूटे नही। उसे मालूम है कि पेट की आग बुझाने के लिए सरकार खड़ी है।सबका साथ। सबका विकास और सबका विश्वास ही सरकार की नीति है।

प्रधानमंत्री ने सारे देश ओर मुख्यमंत्री से पूरे प्रदेश को वर्चवली संबोधित किया। सम्बोधन सुनने के लिए हर राशन दुकानों, पंचायत कार्यालयों, सहकारी संस्थाओं में बारिस के बाबजूद बड़ी संख्या में लोग जुटे। संस्थाओं को सजाया, संवारा गया था। हितग्राहियों को नवाजने के लिए से प्रभारी मंत्रियो,जिला पंचायत अध्यक्षों, विधायको, जनपद अध्यक्षों, सरपंचो, बीजेपी के ग्रामीण स्तर से लेकर जिला, प्रदेश स्तर तक के नेतागण ने तयशुदा नगरों,कस्बो,ग्राम पंचायतों में शिरकत की।

राजगढ़ में प्रभारी मंत्री ने सारंगपुर, विधायक राजवर्धन सिह ने नरसिंहगढ़, कांग्रेस विधयक रामचन्द दांगी ने कासोर में हितग्राहियों को 10-10 किलो के अन्न के पैकेट निशुल्क दिए। ये तो उजला ओर कल्याणकारी पक्ष है। मुफ्त अन्न/अनाज से नवाजने का एक काला पक्ष भी है। जरूरत मंद के लिए ये वरदान है।मगर अनेक गैर जरूरतमंद बुलेट,होंडा जैसी महंगी वाहनों पर अन्न लेने आए। हमेशा की तरह। ओर ये गैर जरूरत मंद सरकारी गेंहू को बाजार में बेचते आ रहे है।डिजिटल युग मे सरकार को चुना लगाने और दूसरों के हकों पर डाका डालने वालों के अलावा 02 से अधिक माता-पिताओं की भी शिनाख्त होनी ही चाहिए।


Updated : 2021-08-07T20:10:24+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top