Latest News
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > इंदौर अग्निकांड में सीसीटीवी फुटेज से सच आया सामने, प्रेम के चक्कर में गई 7 जान

इंदौर अग्निकांड में सीसीटीवी फुटेज से सच आया सामने, प्रेम के चक्कर में गई 7 जान

इंदौर अग्निकांड में सीसीटीवी फुटेज से सच आया सामने, प्रेम के चक्कर में गई 7 जान
X

इंदौर। शहर के स्वर्णबाग कालोनी में शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात पौने तीन बजे एक दो मंजिला इमारत में आग लगने के मामले में एक बड़ा चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इस आगजनी में सात लोगों की जलने से मौत हो गई थी, जिसमें पांच पुरुष और दो महिलाएं शामिल हैं। शुरू में यह माना जा रहा था कि यह आग मीटर में शार्ट सर्किट से लगी है, लेकिन अब यह बात सामने आ रही है कि यह आग लगी नहीं बल्कि लगाई गई थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यह आग एक युवक ने लगाई थी, जो पूरी बिल्डिंग में फैल गई। यह चौंकाने वाला खुलासा मकान मालिक इंसाफ पटेल के घर के नजदीक लगे सीसीटीवी फुटेज से हुआ है। फुटेज में आरोपित युवक वाहन में आग लगाता दिख रहा है। सूत्रों के मुताबिक जिस युवक ने आग लगाई वह बिल्डिंग में रहने वाली युवती से एकतरफा प्यार करता था। युवती से उसकी कहासुनी हुई थी। इसके बाद युवक ने उसी युवती के स्कूटी में आग लगा दी। यही आग पूरी बिल्डिंग में फैल गई। पुलिस के मुताबिक युवक की पहचान कर ली गई है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। युवक का नाम संजय बताया गया है।

शनिवार तड़के इमारत में आग लगने के बाद विजय नगर पुलिस ने इस क्षेत्र के तीन डीवीआर जब्त किए। पुलिस, पीडबल्यूडी, एफ़एसएल टीम ने जब सीसीटीवी फुटेज देखे और उनकी जांच की तो यह खुलासा हुआ। सीसीटीवी फुटेज में रात को दो बजकर 54 मिनट पर सफेद शर्ट पहने एक व्यक्ति दिखाई दे रहा है। लड़का इमारत में ही खड़ी एक बाइक पर पेट्रोल डालकर आग लगाते हुए दिखाई दे रहा था। आग लगाने के बाद यह लड़का जाता हुआ दिखाई दे रहा है। कुछ देर बाद यह लड़का फिर से इसी इमारत में आता दिखाई देता है। इसके बाद वह इमारत में लगे सीसीटीवी कैमरे से छेड़छाड़ करता है। इसके साथ ही वह बिजली के मीटर के साथ भी छेड़छाड़ करता देखाई दे रहा है। इसके बाद वह यहां से फिर से रवाना हो जाता है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन क्राइम ब्रांच और अन्य टीम को आरोपित को पकड़ने के लिए लगा दिया गया है।

मृतकों में ईश्वर सिंह सिसौदिया (45), नीतू सिसौदिया (45), आशीष (30), गौरव (38) और आकांक्षा अग्रवाल (25) शामिल हैं। मरने वालों में 40 और 45 वर्ष के दो लोगों की पहचान नहीं हो पाई है। मृतकों में एक दंपती भी शामिल हैं। ईश्वर सिंह सिसोदिया और नीतू की दम घुटने से मौत हुई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है।

विजय नगर थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि घटना के वक्त बिल्डिंग में 15-16 लोग थे। बताया गया कि बिल्डिंग के मालिक के मोहल्ले में 4 मकान हैं, जो किराए से दिए हैं। लोग कह रहे हैं कि कहीं भी सेफ्टी नहीं है। उसके खुद के मकान पर तो मोबाइल कंपनी का टावर लगा है।

Updated : 7 May 2022 2:20 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top