Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > इंदौर में अवैध उत्खनन रोकने गई टीम से हुई झड़प, प्रकरण दर्ज

इंदौर में अवैध उत्खनन रोकने गई टीम से हुई झड़प, प्रकरण दर्ज

इंदौर में अवैध उत्खनन रोकने गई टीम से हुई झड़प, प्रकरण दर्ज

इंदौर। प्रदेश में बढ़ रहे अवैध उत्खनन को रोकने के लिए सरकार और प्रशासन लगातार सख्त कदम उठा रहा है। इसी कड़ी में कल शाम जब विभाग की टीम को ग्राम कैलोद करताल में अवैध उत्खनन होने की सुचना मिली।जिसके बाद खनिज विभाग की टीम उत्खनन रोकने के लिए ग्राम कैलोद करताल पहुंची।अवैध खनन रोकने गई खनिज विभाग की टीम पर वहां कुछ लोगों ने पथराव कर दिया। पथराव में तेजाजी नगर पुलिस थाने के वाहन के कांच फूट गए।

दरअसल,कल खनिज विभाग को जानकारी मिली थी की ग्राम कैलोद करताल में कुछ लोग अवैध खनन कर रहे हैं। जिसके बाद खनिज निरीक्षक आलोक अग्रवाल अपनी टीम और तेजाजी नगर थाना पुलिस को लेकर मौके पर पहुंचे। टीम मौके से दो पोकलेन और एक डंपर जब्त करके ला रही थी। उसी समय कुणाल पटवारी और चेतन पटवारी अपने साथियों के साथ वहां पहुंच गए और टीम के साथ विवाद शुरू कर दिया। जिसके बाद खनिज विभाग और आरोपियों में बहस छिड़ गयी और उन्होंने पुलिस वाहन पर पथराव शुरू कर दिया। जिसमें तेजाजी पुलिस थाने के वाहन के कांच फूट गए।पुलिस ने इसके बाद दोनों युवको के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने के मामले में एफआईआर दर्ज कराई।

बताया जा रहा है की विवाद करने वाले दोनों युवक पूर्व मंत्री और विधायक जीतू पटवारी के रिश्तेदार है। लेकिन पूर्व मंत्री ने दोनों युवकों से परिचय होने से इन्कार किया है। पूर्व मंत्री का कहना है की उनका इन लोगों से कोई लेना-देना नहीं है।सरनेम समान होने की वजह से बार-बार मेरा नाम ऐसे विवादों में घसीटा जाता है। उन्होने कहा है कि न वे युवक उनके परिवार के हैं और न ही कोई परिचय है। पुलिस को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उधर देर रात शासन ने खनिज अधिकारी का ट्रांसफर कर दिया।



Updated : 2020-06-20T15:57:15+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top