Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > शिवसेना नेता की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी

शिवसेना नेता की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी

शिवसेना नेता की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी
X

इंदौर। शहर के तेजाजी नगर थाना क्षेत्र में शिवसेना नेता रमेश साहू की कल रात अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है की घटना के समय वह अपने ढाबे पर थे। उस समय तीन बदमाश यहां पहुंचे, जो साहू को गोली मारकर भाग गए। आशंका है कि किसी परिचित ने ही वारदात को अंजाम दिया है, क्योंकि घटना के समय मृतक के पालतू कुत्ते भी नहीं भौंके थे ।

ढ़ाबा कारोबारी रमेश साहू शिवसेना के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। जिन्हें गोली लगने के बाद उनका नौकर जितेंद्र राठौर उन्हें एंबुलेंस से एमवाय अस्पताल लेकर पहुंचा, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। जितेंद्र के अनुसार वह बाहर ही सो रहा था, उसी दौरान रमेश साहू के चीखने की आवाज आई। वह अंदर पहुंचा तो रमेश लहूलुहान हालत में मिले। रात में उनके साथ उनकी पत्नी गीता देवी और बेटी जया भी थे। पत्नी और बेटी वारदात के बाद रामबाग में अपने पुश्तैनी घर पर आ गए।


शिवसेना नेता की हत्या की सूचना मिलते ही डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र, एएसपी शशिकांत कनकने, सीएसपी आलोक शर्मा, एसपी क्राइम राजेश दंडोतिया भी मौके पर पहुंचे। बताया जाता है कि रमेश साहू के कई विवाद चल रहे हैं। हॉस्टल और होटल में उन्होंने सुरक्षा के बतौर दो खूंखार कुत्ते भी पाल रखे हैं। अधिकारियों की जांच में यह बात सामने आई कि रात को कुत्ते नहीं भौंके। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि हत्यारे रमेश साहू के कोई परिचित ही है और पुराने विवाद में ही उनकी हत्या की गई है।

20 से ज्यादा अपराध दर्ज

रमेश साहू पर अलग-अलग थानों में 20 से ज्यादा अपराध दर्ज है । विवादों में हस्तक्षेप करना उनकी आदत थी। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि मामला जमीन से जुड़ा हुआ या किसी पुरानी रंजिश का लग रहा है। पुलिस हर बिंदु पर बारीकी से जांच कर रही है । सुबह पुलिस का डॉग स़्क्वॉड का दल भी मौके पर पहुंचा, लेकिन वह भी घर के अंदर ही भौंकता नजर आया।

हॉस्टल के पीछे बाहर निकलने का दरवाजा

दरअसल जब रमेशचंद्र को गोली लगी तो उनका नौकर जितेंद्र अंदर पहुंचा उस समय गेट बाहर से बंद था। इसलिए अंदाजा लगाया जा रहा है की हत्यारे पीछे बने गेटों से आये होंगे और वहीँ से भाग गए होंगे। पुलिस का मानना है की हत्यारे रमेश साहू के बारे में सारी जानकारियां रखते होंगे। पुलिस हर पहलू पर पड़ताल में जुटी हुई है।

लूट की बात भी सामने आई

पत्नी गीता ने पुलिस को बताया कि रात करीब 1 बजे मैं पति रमेश और बेटी जया सो रहे थे। देर रात कुछ आवाज आई, जिससे मेरी नींद खुली। मैंने कमरे का दरवाजा खोला तो दुबले-पतले सांवले कलर के तीन युवक दरवाजे के पास खड़े थे। उनकी उम्र 20 से 25 साल रही होगी। उनके हाथ में पिस्टल, डंडा और धारदार हथियार थे। मेरे दरवाजा खोलते ही वे धमकाते हुए मेरी ओर बढ़े और मेरे गले से सोने की चेन खींच ली। उन्होंने धमाकाया के चीखी तो जाने से मार देंगे। वे कह रहे थे कि तुम्हारे पास जो भी रुपए पैसे, जेवर या अन्य कीमती सामान हो जल्दी से दे दो। इसके बाद मैंने जो पहन रखा था, उन्होंने कान के टाप्स, चार सोने की चूडिय़ां और दो अंगूठी उतर ली। उन्होंने बताया कि एक युवक हमारे पास ही खड़ा था। जबकि अन्य बदमाश आलमारी की ओर बढ़े। यहां पर उन्होंने ताला तोड़ते हुए अलमारी और ड्राज का साम अस्त-व्यस्त कर दिया।

गले के पास लगी गोली

यहां कुछ नहीं मिला तो वे साथ लेकर आए कट्टा लेकर मेरे पति के कमरे में घुस गए। मैं अपने कमरे की ओर बढ़ी ही थी कि गोली चलने की आवाज आई। गोली मेरे पति रमेश साहू को लगी थी। गोली उनके गले के पास लगी थी। वे लहूलुहान जमीन पर पड़े थे। आरोपी इसके बाद मौके से भाग निकले। इसके बाद मैं दौड़कर ड्रायवर जितेन्द्र और राजेश के पास पहुंची, उन्हें पूरी घटना बताई। इसके बाद उन्होंने 108 को सूचना दी। एम्बुलेंस से हम पति को एमवाय अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। गीता ने बताया कि उनके यहां से और क्या सामान चोरी हुआ है वे देखकर ही बता पाएंगी।

Updated : 2020-09-04T06:52:57+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top