Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > इंदौर : पुलिस आरक्षक की ड्यूटी के दौरान हुई मौत

इंदौर : पुलिस आरक्षक की ड्यूटी के दौरान हुई मौत

इंदौर : पुलिस आरक्षक की ड्यूटी के दौरान हुई मौत

इंदौर। शहर में कोरोना संकट हावी है और पुलिस भी मुस्तैदी के साथ दिन रात काम कर सेवा में जुटी है। बता दे कि इंदौर में जब से पूर्णतः लॉक डाउन तब से ही स्वास्थ्य विभाग की टीम, स्वच्छता सेनानी और पुलिस की ड्यूटी के समय निश्चित नही रहा है और अपने कर्म के जरिये कोरोना वारियर्स लोगो की जान की हिफाजत में जुटे हुए है। कोरोना संकट के बीच जहाँ इंदौर के एक टीआई पर कोरोना का वार हुआ तो दूसरी और इंदौर के तुकोगंज थाना के टीआई की खाना खाते हुए मार्मिक तस्वीर वायरल हुई। इस बीच एक बड़ी खबर सोमवार सुबह आई है जिसमे पता चला है कि ड्यूटी पर तैनात एक आरक्षक की मौत हो गई है।

बताया जा रहा है कि आज सुबह इंदौर के मालवा मिल चौहारा पर आरक्षक अबरार खान ड्यूटी पर मौजूद थे उसी दौरान उनकी तबीयत बिगड़ी जिसके बाद इंदौर के एम. वाय अस्पताल में आरक्षक की मौत की पुष्टि की गई। कोरोना संक्रमण के दौरान अपने महकमे के एक काबिल आरक्षक की मौत की सूचना पर इंदौर आईजी विवेक शर्मा पहले एम.वाय. अस्पताल पहुंचे और मृतक आरक्षक की पत्नि से बात कर जानकारी ली। आईजी इंदौर इसके बाद सीधे परदेशीपुरा थाना पहुंचे और उन्होंने वहां थाने के स्टॉफ से भी बात की।

आई.जी. इंदौर विवेक शर्मा ने बताया कि आज सुबह उन्हें सूचना मिली थी कि परदेशीपुरा थाना में पदस्थ आरक्षक की ड्यूटी के दौरान मौत हुई है। उन्होंने बताया कि इस समय कोरोना संक्रमण हर जगह फैला हुआ है तो इस दृष्टि से ये पता लगाया गया कि कही आरक्षक कोरोना संक्रमित तो नही था और क्या लक्षण थे वही थाने में कोई और व्यक्ति तो संक्रमित नही है। उन्होंने बताया कि थाने के स्टॉफ का स्वास्थ्य कैसा है इसकी समीक्षा के लिए वो थाने पर पहुंचे है। उन्होंने कहा कि इसके पहले वो एम. वाय. मर्च्युरी में मृत आरक्षक की पत्नी की बात की और जो भी शासकीय सहयोग उन्हें मिलना चाहिए था उसे उन्होंने मुहैया करवाया है। उन्होंने बताया कि आरक्षक की पत्नी से मिली प्राथमिक रूप से मिली जानकारी में पता चला है कि आरक्षक को ब्लड प्रेशर,अस्थमा और अधिक वजन की समस्या थी और उस वजह से कल रात को उनको घबराहट हुई थी और सुबह वो स्वयं ड्यूटी पर आ गए।

आईं. जी.इंदौर ने ये भी बताया कि इससे पहले आरक्षक को 30 मार्च को हल्का बुखार आया था जिसके बाद उन्हें थाने से छुट्टी दे दी गई जिसके बाद 31 मार्च को आराम कर 1 अप्रैल को वापस ड्यूटी पर आ गए। पुलिस की माने बाद कल रात को भी आरक्षक अबरार को घबराहट हुई और आज सुबह भी अचानक घबराहट के बाद आरक्षक ने इन्हेलर का इस्तेमाल किया लेकिन तबीयत इतनी बिगड़ गई कि उनकी मौत हो गई। आई इंदौर ने बताया कि परदेशीपुरा थाना स्टॉफ से ये भी जानकारी ली गई कि किसी को बुखार, सर्दी या खासी के लक्षण तो नही है तो पता चला कि थाने पर एक एएसआई बीमार है जो कि पिछले 2 माह से बीमार चल रहे है। आईजी विवेक शर्मा ने कहा कि बावजूद इसके मैंने डॉक्टर्स से कहा है कि बीमार एएसआई का सैम्पल लिया जाए ताकि एटियात बरता जा सके। वही उन्होंने ये भी साफ किया कि थाने पर किसी भी पुलिसकर्मी में बुखार, सर्दी और खांसी के लक्षण नही है।

आई.जी. ने कहा गली में घूमने वालो पर भी होगी कार्रवाई-

मीडिया से बातचीत के दौरान इंदौर आई. जी.ने कहा कि आज उन्होंने समूचे इंदौर में महकमें को निर्देश दिया है कि मुख्य सड़क के अलावा वो गली और मोहल्लों में बेवजह घूमने वालो पर कार्रवाई करे ताकि कोरोना संक्रमण का फैलाव न हो सके।


Updated : 2020-04-07T11:09:32+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top