Home > राज्य > मध्यप्रदेश > मप्र इनवेस्टर समिट में 500 से ज्‍यादा उद्योगपति होंगे शामिल, इन...क्षेत्रों में निवेश पर रहेगा फोकस

मप्र इनवेस्टर समिट में 500 से ज्‍यादा उद्योगपति होंगे शामिल, इन...क्षेत्रों में निवेश पर रहेगा फोकस

  • दो दिवसीय आयोजन में होंगे 19 सत्र

मप्र इनवेस्टर समिट में 500 से ज्‍यादा उद्योगपति होंगे शामिल, इन...क्षेत्रों में निवेश पर रहेगा फोकस
X

इंदौर/वेब डेस्क। इंदौर में 11 एवं 12 जनवरी को होने वाले ग्लोबल इनवेस्टर समिट में विभिन्न विषयों पर 19 सत्र होंगे। इस समिट में 20 से अधिक देशों के राजदूत, उच्चायुक्त, महावाणिज्य दूतावास व राजनयिक भाग लेंगे। इसमें कुमार मंगलम बिड़ला, नोएल टाटा, नादिर गोदरेज, पुनीत डालमिया और अजय पीरामल समेत भारत के 500 से अधिक उद्योगपति शामिल होंगे। इस दौरान 14 अंतरराष्ट्रीय व्यापार संगठन अपने देशों के विभिन्न पहलुओं का प्रदर्शन भी करेंगे।

मध्य प्रदेश ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट की थीम 'मध्य प्रदेश - भविष्य के लिए तैयार राज्य" रखी गई है। इसमें पर्यावरण-संरक्षण का पूरा ध्यान रखा गया है। यह कार्यक्रम "कार्बन न्यूट्रल" और "जीरो वेस्ट" पर आधारित होगा।दो दिवसीय ग्लोबल इनवेस्टर समिट का शुभारंभ 11 जनवरी को सुबह 11 बजे होगा। इसके बाद समानांतर सत्र होंगे।पहले दिन दोपहर 2 बजे से 5 समानांतर सत्र होंगे। यह सत्र एग्रीकल्चर, फूड एण्ड डेयरी प्रोसेसिंग, फार्मास्युटिकल और हेल्थ केयर, नेचुरल गैस एण्ड पेट्रो केमिकल्स सेक्टर में अवसर, रिन्यूवल एनर्जी विषय पर होंगे। इसी दिन दोपहर 3 बजे से टेक्सटाइल और गारमेंट विषय पर विशेष सत्र भी होगा। समिट के पहले दिन ही शाम 4 से 5:30 बजे तक आई.टी., पर्यटन, लॉजिस्टिक एण्ड वेयर-हाउसिंग, अर्बन एरिया में इन्फ्रा-स्ट्रक्चर डवलपमेंट विषयक सत्र होंगे। विशेष सत्र ऑटो मोबाइल एण्ड ऑटो कम्पोनेंट विषय पर होगा। यह सत्र शाम 4:30 से 6 बजे के बीच होगा।



स्टार्ट-अप के लिये अनुकूल वातावरण -

समिट के दूसरे दिन निवेश के विभिन्न विषय पर सत्र होंगे। सुबह 11 से दोपहर 12 बजे के बीच मध्य प्रदेश से निर्यात की संभावनाएँ, सामाजिक बुनियादी ढाँचे के विकास के लिये वित्तीय सहायता, एक्सेस मध्य प्रदेश कम्पलीट बिजनेस सॉल्यूशन और इण्डिया तथा इजराइल, यूएसए और यूएई (12 यू 2) समूह साझा निवेश पर चर्चा होगी। इसी दिन दोपहर 12:15 बजे से अगले समानांतर सत्र होंगे, जिनमें प्रमुख रूप से भारत की 5 ट्रिलियन की इकॉनामी में मध्य प्रदेश का योगदान, एयरो स्पेस और डिफेंस, भारत में मैन्युफैक्चरिंग को गति देने में मध्य प्रदेश का योगदान और शिक्षा और कौशल विकास पर निवेशकों के बीच चर्चा होगी। दूसरे दिन दोपहर 2 से 3 बजे के बीच विशेष सत्र में मध्य प्रदेश में स्टार्ट-अप के लिये अनुकूल वातावरण पर चर्चा होगी। ग्लोबल इनवेस्टर समिट का समापन सत्र दूसरे दिन 11 जनवरी को ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में दोपहर 3 बजे से होगा।

क्रेता-विक्रेता बैठक

राज्य के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग को वैश्विक बाजार तक पहुंचाने एवं निर्यात को बढ़ावा देने के लिए क्रेता-विक्रेता बैठक का आयोजन किया जाएगा। इसमें मुख्य रूप से अमेरिका, कनाडा, यूनाइटेड किंगडम, जापान, थाईलैंड, कंबोडिया, बांग्लादेश, इजराइल, नीदरलैंड, सिंगापुर, और अफ्रीकी देशों के क्रेता शामिल होंगे। इस समिट में राज्य के विभिन्न क्षेत्रों जैसे फार्मास्युटिकल, टेक्सटाइल, इंजीनियरिंग, कृषि और आइटी सेवाओं के डेढ़ हजार से अधिक निर्यातक भाग लेंगे।

प्रदेश की विशेषता दर्शाने वाली प्रदर्शनी -

समिट के दौरान राज्य की औद्योगिक इकाइयों पार्कों, प्रमुख निवेश परियोजनाओं को प्रदर्शित करने वाली प्रदर्शनी लगाई जाएगी। जिसमें फार्मा, टेक्सटाइल्स, गारमेंट्स, केमिकल्स, सीमेंट, फूड प्रोसेसिंग से जुड़े उद्योग अपने उत्पादों का प्रदर्शन करेंगे। सांस्कृतिक समृद्धि से मेहमानों को रूबरू कराने के लिए एक सांस्कृतिक क्षेत्र भी बनाया जाएगा। जिसमें स्थानीय जनजातीयों की कला, पेंटिंग, शिल्प, हथकरघा, वस्त्र आदि का प्रदर्शन किया जाएगा। स्वतंत्रता संग्राम में प्रवासी भारतीयों की भूमिका" पर आधारित एक डिजिटल प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी।

Updated : 2023-01-18T13:05:27+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top